कोविंद के गांव की बिजली गुल, जनरेटर मंगा कर मनाया जीत का जश्न

कानपुर। रामनाथ कोविंद के राष्ट्रपति चुने जाने के बाद उनके गांव की बिजली गुल हो गई जिससे ग्रामीणों में रोष व्याप्त हो गया। इसके बावजूद ग्रामीण इस खुशी के क्षण को जी भर के जीना चाहते थे इसलिए उन्होंने तत्काल चंदा इकट्ठा कर किराये का जनरेटर मंगाया और रातभर जश्न मनाया। कोविंद के भतीजे ने बताया कि खराब ट्रांसफार्मर की जानकारी जेई को दी गई थी लेकिन उसे समय पर ठीक नहीं किया गया।

celebrat, ramnath kovind, win, generator, power, village
ramnath kovind village

बता दें कि रामनाथ कोविंद के पैतृक गांव कानपुर देहात स्थिति पखौंर में गुरुवार को दिनभर जश्न का माहौल रहा। लोग ढोल-नगाड़े और डीजे के धुन पर थिरकते रहे, लेकिन शाम होते ही पूरा गांव अंधेरे में डूब गया। ऐसे में गांव में लाइटों से सजाया गया घर, रोशनी की बजाय अंधेरे में खो गया। राष्ट्रपति के सहपाठी राजकिशोर सिंह, विजयपाल सिंह इस खुशी को जाया नहीं करना चाहते थे। उनकी सलाह पर किराये पर जेनरेटर मंगाया गया जिसके लिए ग्रामीणों ने आपस में चंदा इकट्ठा किया। गांव के लोग कोबिंद की जीत के जश्न में रातभर डूबे रहे और नाच-गाना होता रहा।

वहीं रामनाथ कोबिंद के भतीजे अनिल ने मीडिया से बातचीत में कहा कि गांव की आबादी करीब नौ हजार है और पूरे गांव में दो ही ट्रांसफॉर्मर हैं। बीते बुधवार की दोपहर से ही दोनों ट्रांसफॉर्मर सही से काम नहीं कर रहे थे जिसकी जानकारी बुधवार और गुरुवार को विभाग के जेई को फोन करके दी गई थी। जेई ने ट्रांसफॉर्मर ठीक करने की बात कही थी लेकिन गुरुवार को शाम छह बजे तक भी ट्रांसफॉर्मर ठीक नहीं किये गए। नतीजतन, बिजली का लोड बढ़ते ही दोनों ट्रांसफार्मर फुंक गये।

अनिल ने बताया कि चाचा (रामनाथ कोबिंद) के राष्ट्रपति चुने जाने पर पूरे गांव में खुशी का माहौल है। लोग रातभर जश्न मनाते रहे लेकिन अधिकारियों ने अपनी लापरवाही को उजागर करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी। गांव के रमेश गौड़ ने बताया कि बिजली न होने की वजह से गांव के ज्यादातर लोग टीवी नहीं देख पाए। रामनाथ कोविंद के पुश्तैनी घर के अंदर रंगोली बना कर सजाया गया था।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद सवर्ण बाहुल्य अपने गांव पखौंर में ग्रामीण परिवेश में अपनी उम्र्र से भी अधिक हैं। जिसके चलते उनके उम्र की महिलाएं व पुरुष उन्हें बाबा कह कर पुकारते हैं। 75 वर्षीय शिवदुलारी ने कहा कि हम लोग बाबा से अधिकारियों की शिकायत करेंगे। ऐसा ही गांव के एक और बुजुर्ग रामपति भदौरिया ने कहा। राष्ट्रपति के भतीजे अनिल ने बताया कि वे लोग शपथ ग्रहण समोरोह में दिल्ली जाएंगे और वहीं पर बिजली विभाग के लापरवाह कर्मचारियों की शिकायत करेंगे।