CBSE सभी स्कूलों में 6 से 9वीं कक्षा तक एक लागू होगा एक पैटर्न

नई दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) छठीं से नौवीं कक्षा के लिए नई परीक्षा प्रणाली लाएगी। इसमें छठी से नौवीं कक्षा तक के लिए एक जैसे नियम होंगे। आगामी सत्र से यह नई प्रणाली से लागू कर दी जाएगी।

सीबीएसई के अध्यक्ष आर के वर्मा ने कहा कि छात्रों के लिए इस बदलाव का मकसद शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाना है। नए प्रावधान के तहत बोर्ड के सभी स्कूलों में एक समान परीक्षा और समान परिणाम की व्यवस्था होगी, जिसकी जानकारी बोर्ड के पास जाएगी।

यूनिफॉर्म असेसमेंट स्कीम के जरिए सीबीएसई से संबंद्ध स्कूलों में कक्षा छठी से नौवीं तक के लिए एक जैसा मूल्यांकन और परीक्षा प्रणाली। एक जैसी परीक्षा प्रणाली व परीक्षा परिणाम होने के बाद माइग्रेशन पर दूसरे राज्य में जाने वाले स्टूडेंट्स का दाखिला आसानी से हो जाएगा।

नई प्रणाली में दो सेमेस्टर प्रणाली होगी- अर्ध-वार्षिक और वार्षिक। हर सेममेस्टर 100 मार्क्स का होगा। इसमें से 10 मार्क्स नोट बुक सब्मिट करने, पीरियोडिक असेसमेंट में सब्जेक्ट एनरिचमेंट के होंगे। हर सेमेस्टर में 10 नंबर के दो पीरियोडिक टेस्ट भी होंगे। लिखित परीक्षा को अब 90 फीसदी वेटेज दिया जाएगा। इसमें से 80 फीसदी मार्क्स अर्ध-वार्षिक या वार्षिक परीक्षा के होंगे। शेष 20 मार्क्स में से 10 मार्क्स प्रत्येक सेमेस्टर में पीरियोडिक असेसमेंट के होंगे।