सुनिल गोस्वामी ने कोहली पर किया वार, बोले- कोहली खुद को ही चुन ले कोच

 

नई दिल्ली। भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली और कोच अनिल कुंबले के विवाद में टीम इंडिया के सबसे बड़े बल्लेबाजों में से सुनील गोस्वामी भी है सुनिल ने कोहली पर तंज कसते हुए कहा कि अगर टीम कोच की पसंद इतनी मायने रखती है। तो फिर क्रिकेट सलाहकार समिति की क्या जरूरत है। दरअसल बीसीसीआई की क्रिकेट सलाहकार समिति में सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण हैं शामिल है। इन्हीं को नए कोच चुनने की जिम्मेदारी दी गई है। लंदन में खेली गई चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान इन तीनों ने विराट और कुंबले से अलग अलग मुलाकात की तीनों ने एक सुझाव दिया कि अनिल कुंबले को ही फिर से टीम का कोच बना दिया जाए। इस पर विराट को ये बात पसंद नहीं आई और उसने तीनों की बात को नकार दिया।

बता दें कि सुनील गोवस्कर इसी बात पर काफ़ी नाराज़ हुए। गावस्कर ने साफ किया कि जब टीम के खिलाड़ी और कप्तान की पसंद से ही कोच चुना जाना है तो फिर इस सलाहकार समिति की क्या ज़रूरत है उनकी मर्जी से ही कोच चुन लिया जाए। सीधे वेस्टइंडीज़ में मौजूद खिलाड़ियों से और कप्तान कोहली से पूछ लें कि वे किसे कोच बनान चाहते हैं। इससे काफी लोगों का वक्त भी बचेगा और टीम को कोच भी मिल जाएगा। गौरतलब है कि जबसे मुद्दा सामने आया है तबसे सुनील गोवस्कर ने अनिल कुंबले के पक्ष में बयान दिया है। उन्होंने यह भी कहा है कि विराट कोहली को भी बयान देकर सब कुछ साफ कर देना चाहिए।

गौरतलब है कि पाकिस्तान के खिलाफ 180 रनों की शर्मनाक शिकस्त के बाद टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने भले ही पाकिस्तान की जमकर तारीफ की,लेकिन कुंबले ने मैच के बाद कड़ी क्लास लगाई। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अनिल कुंबले ने टीम के कई खिलाड़ियों को खूब डांट लगाई और कहा कि हर किसी का खेल फाइनल में उम्मीद से कम स्तर का था। माना जा रहा है कि यही कुंबले की रवानगी की अंतिम वजह बना।

कुंबले को इस बात से और गुस्सा आया कि मैच के बाद खिलाड़ियों के चेहरे पर हार का गम बिल्कुल भी नहीं था और वह मैदान पर पाकिस्तान के खिलाड़ियों के साथ हंसी मजाक कर रहे थे। अनिल कुंबले ने ड्रेसिंग रूम में टीम के गेंदबाजों की खूब क्लास लगाई और उन्हें कहा कि टीम में बने रहने के लिए ऐसा प्रदर्शन काम नहीं आएगा। कुंबले की ये कड़वी बातें कप्तान विराट कोहली को पसंद नहीं आईं, क्योंकि कोहली का मानना था कि खिलाडियों ने कोशिश तो पूरी की थी पर उस दिन पाकिस्तान की टीम हर लिहाज से बेहतर थी। पर कुंबले कोहली की इस दलील को मानने के लिए तैयार नहीं थे।

बस फिर क्या था? इस झगड़े ने कोहली-कुंबले विवाद में ताबूत में आखिरी कील का काम किया। अगले दिन कुंबले जब बीसीसीआई के अधिकारियों से मिले तो कुंबले को ये साफ कर दिया गया कि कोहली उन्हें अब टीम का कोच नहीं चाहते। कुंबले ने उसी समय टीम के कोच पद से इस्तीफा देने का मन बना लिया।