सीएम ने फौजियों संग गुजारी रात, विपक्षियों ने साधा निशाना

पंजाब। अपने आप को पूरी तरह से सैनिक बताने वाले पंजाब के सीएम कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने पंजाब की सीमा पर सिख रेजीमेंट की तीन बटालियन के सैनिकों के साथ पूरी रात गुजारी है। बताया जाता है कि सीएम खुद एक फौजी नहीं हैं लेकिन फिर भी वह अपने आप को फौजी मानते हैं। लेकिन विपक्षी इसे सीएम का चुनावी स्टंट बता रहे हैं। विपक्षियों का कहना है कि गुरदासपुर चुनाव को लेकर सीएम का दाव है।

फौजियों से लगाव होने के कारण कैप्टन हमेशा अपने आप को भारतीय सेना के साथ जोड़ते हैं। वह एक फौजी इतिहासकार के तौर पर भी अपने आप को सेना से जोड़ते हैं। वही इस मौके पर सैनिकों का कहना है कि यह दिन फौजियों के लिए काफी महत्वपूर्ण है और सीएम ने यहां आकर इस दिन को औप भी ज्यादा महत्वपूर्ण बना दिया है। वही कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने अपनी किताबों में फौज के कई तथ्यों को शामिल किया है। माना जा रहा है कि सीएम का ऐसा करना इतिहास में चलने जैसा था। कहा जाता है कि कैप्टन अमरेंद्र सिंह का पहला प्यार सेना है। उन्होंने 14 अगस्त की रात फौजियों के साथ बिता कर यह साबित कर दिया है कि उनके दिल में सेना के प्रति कितना प्यार है।