आचार संहिता के बावजूद विरोधी पार्टियों पर निशाना साधने से नहीं चूक रहे चुनाव प्रत्याशी

डिबाई। चुनाव के मद्देनजर आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद भी प्रत्याशी मतदाताओं को लुभाने का कोई मौका नहीं छोड़ना चाहते हैं। बुलंदशहर के डिबाई विधानसभा प्रत्याशी देवेंद्र भारद्वाज बसपा सुप्रीमों मायावती के जन्मदिन की आड़ लेते हुए विधानसभा क्षेत्र के हजारों की तादात में पहुंचे मतदाताओं के सामने मंच से सपा और भाजपा को जमकर कोस रहे थे हालाँकि देविन्द्र मीडिया को मौके पर देख बीच-बीच में आचार संहिता का पाठ पढ़ाते हुए खुद को कार्यक्रम का मेहमान जरूर बता रहे हैं।

मौका बसपा सुप्रीमों के 61 का जन्मदिन का था और प्रत्याशी इस दिन को भुनाने में कोई कसर बाकि नहीं छोड़ना चाहते थे। बसपा के डिबाई विधानसभा प्रत्याशी देवेंद्र भारद्वाज ने जन्मदिन के बधाई दूर छोड़ सपा और भाजपा पर हमला बोलना शुरू कर दिया हालांकि मीडिया को मौके पर पहुंचे देख देवींद्र आदर्श आचार संहिता का पाठ पढ़ाते हुए खुद भी जन्मदिन के जश्न में शामिल होने आए मेहमान ही बता रहे हैं लेकिन सवाल ये उठता है कि अगर मामला सिर्फ बसपा सुप्रीमो मायावती के जन्मदिन का था तो प्रत्याशी इसे अपने क्षेत्र में क्यों करा रहे हैं?

सवाल ये उठता है कि क्या बसपा प्रत्याशी मायावती के जन्मदिन को कीमती वोट पाने के लिए तो नहीं भुना रहे हैं? वहीं बसपा जिला अध्यक्ष सतीश सागर से बात की माने तो हाईकमान से उन्हें जन्मदिन का कार्यक्रम हर विधानसभा में रखने का आदेश दिया गया है जबकि सतीश नामांकन ना होने तक देवींद्र को महज एक कार्यकर्त्ता मान रहे हैं।
गौरतलब है कि बसपा सुप्रीमों की तरफ जारी की गई लिस्ट में डिबाई प्रत्याशी देवींद्र भारद्वाज का नाम खोला गया है तो क्या ये ब्यानबाजी सिर्फ निर्वाचन आयोग को गुमराह करने के लिए की जा रही है?