हत्याकांड के एकमात्र गवाह को गोली मारकर फरार हुए बदमाश

बलरामपुर। जिला मुख्यालय के वीआईपी इलाके में अज्ञात बदमाशों द्वारा गोली मारकर युवक की हत्या करने का मामला सामने आया है। घटना के बाद से पूरे क्षेत्र में दहशत का माहौल बना हुआ है गुस्साएं लोगों ने बौद्ध परिपथ जाम कर पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी है। शव को सड़क पर रखकर आरोपियों के तुरंत गिरफ्तारी की मांग पर अड़े रहे हैं। धरना स्थल पर पुलिस अधीक्षक प्रमोद कुमार समेत तमाम आला अधिकारी भारी पुलिस बल के साथ पहुंच चुके हैं।

 Bully shotgun, escaped, sole witness, murder, crime, police
shotgun

जनपद बलरामपुर मुख्यालय के सिविल लाइंस इलाके में देर शाम लगभग 8:30 बजे कुछ हथियारबंद बदमाशों ने दुर्गेश सिंह सुडू को उस समय गोली मार दी जब वह अपने घर कोतवाली देहात क्षेत्र के गांव मदारा जा रहे थे। गोली लगने के तुरंत बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से घायल को जिला अस्पताल पहुंचाया। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। युवक को चार गोली मारी गई है। घटना के बाद से ही पूरे क्षेत्र में लोगों के अंदर काफी गुस्सा देखा जा है। इस पूरी घटना को कहीं ना कहीं कुछ वर्षों पूर्व हुए राजा हत्याकांड से जोड़कर भी देखा जा रहा है।

राजा हत्याकांड का मृतक युवक एक मात्र गवाह था। बताया यह भी जा रहा है कि उसी केस की पेशी भी थी जिसमें गवाही के लिए दुर्गेश दिन में कचहरी आया हुआ था। शाम को अपना काम समाप्त कर गांव जाने के लिए चला ही था कि पहले से घात लगाए बैठे बदमाशों ने गोलियों की बारिश कर दी जिससे उसे 4 गोली लग गई। पुलिस अधीक्षक प्रमोद कुमार ने अस्पताल पहुंचकर पूरे घटनाक्रम का जायजा लिया तथा बताया की मृतक के परिजनों से बातचीत की जा रही है उनके कथनानुसार FIR दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।