दबंगों ने गर्भवती महिला की करी पिटाई, जमीन पर गिरा भ्रूण

हरदोई। उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था को सुधारने के लिए योगी सरकार लाख प्रयास कर रही है, लेकिन कानून के रक्षक ही भक्षक बन बैठे हैं। एक तरफ सूबे में बैठे योगी महिलाओं की सुरक्षा के मद्देनजर तमाम दावे-वादे करने में लगी हुई हैं। तो दूसरी तरफ नजारा कुछ और ही है, शनिवार को एक ऐसा मामला संज्ञान में आया है। जिसको सुनकर हर मां की आंख नम पड़ जाएगी। दरअसल मामला भ्रूण हत्या का है, हरदोई जिले के पिहानी थाना क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम हरन पसिगवां ने पुरानी रंजिश के चलते, एक गर्भवती महिला को दबंगों ने इस कदर पीटा कि उसका गर्भपात हो गया। जिस से मौके पर ही महिला के पेट में 5 माह का भ्रूण जमीन पर आ गिरा। पीड़िता जिसको झोले में भरकर दर-दर न्याय की गुहार लगाती घूम रही है। लेकिन कोई भी जिम्मेदार इस गरीब की तकलीफ को सुनने के लिए तैयार नहीं है। वहीं थाने में जब महिला पहुंची तो थानाध्यक्ष ने मामूली मारपीट की धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर उसको थाने से भगा दिया। महिला ने भ्रूण की पोस्टमार्टम की मांग की तो उसे थाने से फटकार कर भगा दिया गया।

Bully, beat,pregnant, woman, dropped, embryo, on ground,
ully beat the pregnant woman

26 वर्षीय पीड़िता मिथिलेश कुमारी दबंगों के खिलाफ जब थाने पहुंची तो कानून के रखवालों ने उसकी एक न सुनी। थाने पर तहरीर तो ली पर कुछ मामुली धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया गया। जिससे कुपित होकर महिला ने शनिवार को पुलिस अधीक्षक का दरवाजा खटखटाया और न्याय की गुहार लगाते हुए कहा की गांव के दबंग प्रसादी और उसकी पत्नी ने मेरी पिटाई की जिससे मेरा गर्भपात हो गया है। उसने बताया की दबंग मेरे घर में आग लगाने का प्रयास कर रहे थे। जब मैंने उन्हें रोकने की कोशिश की तो उन्होंने मुझे इस कदर पीटा की मेरी ये हालत हो गई और दोषी अभी भी खुलेआम सडकों पर घूम रहे हैं। थाने पर कोई भी कार्रवाई नहीं हुई है। आखिर मुझ पीड़ित मां को न्याय कैसे और कहां मिलेगा। तब पीड़िता को पुलिस अधीक्षक ने उस महिला पर हुए अत्याचार पर गौर फरमाते हुए तुरंत जांच के आदेश दिए और आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई किए जाने का आश्वासन दिया।

शनिवार को हरदोई पुलिस अधीक्षक कार्यालय में उस वक्त हड़कंप मच गया, जब एक पीड़ित मां अपने 5 माह से पेट में पल रहे बच्चे का भ्रूण झोले में लेकर नम आखों के साथ जमीन पर लेटी हुई मिली। तत्पश्चात वहां मौजूद मिडिया कर्मियों ने उस पीड़ित महिला की आपबीती सुनी और पूरे मामले का संज्ञान लिया। जिसके बाद हरकत में आई पुलिस ने उस पीड़िता को एसपी के सामने पेश किया। घटना की पूरी जानकारी से महिला के पति ने अवगत कराया है।