दिव्यांग पुनर्वास केन्द्र में गन्दगी से घूम रहे कीडे

बलिया। देश में एक तरफ तो सरकार स्वच्छता और स्वस्थता को लेकर जारुक हो रही है तथा लगातार अभियान चला रही है। वहीं दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश में सरकार का स्वास्थ विभाग के प्रति कितना तत्परता दिखा रही हैं, जिसे देखने से अन्दाजा लगाया जा सकता है कि योगी आदित्यनाथ के स्वास्थ मंत्री लोगों के स्वास्थ को लेकर कितना सतर्क हैं। जिसका जीता जागता उदाहरण बलिया जनपद के जिला चिकित्सालय के कैम्पस में बना जिला दिव्यांग पुनर्वास केन्द्र में देखने को मिला। कई दिनों से दिव्यांग पुनर्वास केन्द्र कार्यालय के ठीक सामने एक युवक गंभीर अवस्था में सोया मिला है। जिसके इर्द-गिर्द खून की बुंदे पड़ी हुई थी और मखियों भीन-भीना रही थी।

जिला चिकित्सालय में बना जिला दिव्यांग केन्द्र की साफ सफ़ाई की व्यवस्था साफ झलक रही हैं। जिससे माहमारी फैलने की काफ़ी आशंका भी जताई जा रही है और आप देख भी सकते हैं कि किस तरह से जमीन पर लेटे अज्ञात युवक के शरीर पर भी मखियां भीन-भीना रही हैं। कई दिनों से बीमार जमींन पर पड़ा अज्ञात युवक तड़प-तड़पकर अपने पैर को पटकते हुए अपना दर्द को कम करना चाहता हैं। लेकिन जिला चिकित्सालय का कोई भी कर्मचारी उसे देखने तक नहीं आया है। जिला चिकित्सालय की इमरजेंसी के समीप पड़ा हुआ हैं। इतना ही नहीं जिला पुनर्वास केन्द्र ठीक सामने गन्दगी से दिव्यांग जनो को काफ़ी परेशानियां झेलनी पड़ रही है। इसकी सुचना दिव्यांग पुनर्वास के चिकित्सक ने सीएमएस को दी हैं, लेकिन 2 दिन बीत जाने के बाद भी कोई डॉक्टर या कर्मचारी देखने तक नहीं आया। ये हैं योगी सरकार के जिला चिकित्सक की हालत। आप जिला चिकित्सालय में बीमार हैं तो सावधान रहिये नहीं तो तड़पते रहेंगे। लेकिन ये डॉक्टर आपको देखने तक नहीं आएंगे।