ईवीएम में धांधली के खिलाफ बसपा करेगी आंदोलन

लखनऊ। विधानसभा चुनावों के नतीजे आने के बाद विरोधियों द्वारा लगातार ईवीएम मशीन में धांधली का मुद्दा उठाया जा रहा है। कभी कांग्रेस ईवीएम मशीन की जांच करने की मांग कर रही है तो कभी बसपा बैलेट पेपर का इस्तेमाल करके दोबारा मतदान कराने की अपील कर रही है। ईवीएम मशीन पर सियासत गर्माती जा रही है। बुधवार को बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि पार्टी ईवीएम में धांधली को मुद्दे को राष्ट्रीय मुद्दा बनाएंगी।

उन्होंने कहा कि बसपा 11 अप्रैल से भाजपा के खिलाफ आंदोलन शुरू करेगी, इस दिन को बसपा लोकतंत्र की हत्या के रूप में काला दिवस मनाएगी। आयोग से उचित जवाब नहीं मिला तो बसपा इस मामले में अदालत जाएगी। देश भर में बसपा मामले को लेकर आंदोलन करेगी।

मायावती ने कहा कि भाजपा अगर ईमानदार है तो दोबारा बैलेट पेपर से चुनाव कराए। 11 अप्रैल से भाजपा के खिलाफ आंदोलन शुरू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि दुनिया भर के विकसित देश ईवीएम को खारिज कर चुके हैं। उन्होंने बताया कि यह आंदोलन सभी जिला मुख्यालयों और राज्य मुख्यालय पर होंगें। मायावती ने कहा यूपी और उत्तराखंड में जीत की वजह से पीएम मोदी फिर 2019 में केंद्र की सत्ता में आने के सपना देख रहे हैं। यह उनकी जीत नहीं है, बल्कि लोकतंत्र की हत्या की जीत है।

मायावती ने कहा कि भाजपा में फर्जी दलित चिंतक बनकर डिबेट में बैठते हैं। यह सब दलाल हैं। अपनी कमियों में पर्दा डालने और जनता को गुमहराह करने में सबसे आगे रहते हैं। ऐसा प्रचार किया जा रहा की बसपा खत्म हो गयी है। ईवीएम धांधली में चुनाव आयोग से सही जवाब न मिलने के कारण न्यायालय तो जायेगी। साथ ही देश अन्य राज्यों में भी लोकतंत्र की इस हत्या का पर्दाफाश करेगी। उन्होंने बताया कि सभी जिला और राज्य मुख्यालायों में हर माह की 11 तारीख को धरना प्रदर्शन आयोजित होगें।

उल्लेखनीय है कि 17वीं विधानसभा के गठन के लिए हुए चुनाव में पार्टी को करारी शिकस्त मिली है। पार्टी की सीटें जहां घटकर मात्र 19 रह गई हैं वहीं जनाधार भी खिसक गया है।