बसपा को लगा एक और झटका, दो नेताओं ने थामा कांग्रेस का हाथ

शाहजहांपुर। चुनाव करीब आते ही बीएसपी पार्टी को नेताओं को छोड़ने का दौर लगातार जारी है। शाहजहांपुर के बीएसपी मंडल कोऑर्डिनेटर भरत पटेल और कटरा विधान सभा अध्यक्ष हरभजन सिंह दुआ ने पार्टी छोड़कर कांग्रेस का दामन थाम लिया है।  प्रेस कॉन्फ्रेंस में पत्रकारों दोनों नेता मीडिया से बात करते हुए कहा कि बीएसपी पार्टी में अच्छे नेताओ की कोई वैल्यू नहीं है। बीएसपी पार्टी में सिर्फ बङे नेताओं की चलती है। वह मायावती को मिस गाईड करते हैं जिसकी वजह से पार्टी डूबने की कगार पर पहुच गई है। भरत पटेल का कहना है कि वह कुछ दिन पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाब नबी आजाद से मिलकर बीएसपी पार्टी छोड़ने की बात कही थी जिसके बाद आज उन्होंने पार्टी का दामन थाम लिया है। बता दें इससे पहले टिकट के बदले नई करेंसी में एक करोड़ रूपये मायावती पर आरोप लगाते हुए पूर्व बीएसपी नेता मानवेंद्र सिंह भी पार्टी छोड़ चुके हैं।

Bsp

बीएसपी पार्टी से नेताओं के जाने का सिलसिला जारी है आज बीएसपी के मंडल कॉर्डिनेटर भरत पटेल और कटरा विधान सभा अध्यक्ष हरभजन सिंग दुआ ने बीएसपी पार्टी से इस्तीफा देकर कांग्रेस का दामन थाम लिया है। भरत पटेल पिछले 12 साल से बीएसपी पार्टी में एक अच्छे नेता के तौर पर काम कर रहे थे। बताया ये भी जा रहा है कि भरत पटेल आने वाले विधानसभा चुनाव में कटरा विधान सभा से टिकट की दावेदारी कर रहे थे। लेकिन वहां से कुछ दिन पहले शाहजहांपुर में सभा करने आए नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने कटरा विधान सभा से राजीव कश्यप का टिकट का ऐलान कर दिया था।

जिसके बाद मंडल कोऑर्डिनेटर भरत पटेल और विधानसभा अध्यक्ष हरभजन सिंह दुआ ने बीएसपी पार्टी छोड़कर कांग्रेस का दामन थाम लिया है भरत पटेल का कहना है कि बीएसपी पार्टी में उन्होंने 12 साल एक इमानदार छवी वाले नेता के तौर पर काम किया है। लेकिन मायावती को अच्छे नेता की पहचान नही है। क्योंकि बीएसपी पार्टी में कुछ ऐसे नेता हैं जो मायावती को मिस गाईड कर रहे हैं। जिसकी वजह से एक दिन पार्टी बिल्कुल डूब जाएगी। अगर बरेली मंडल की बात करे तो यहां पच्चीस सीटे है। लेकिन इस मंडल में बीएसपी पार्टी की हालत बहुत खराब है जिससे लगता है कि बीएसपी पार्टी की एक भी सीट नही निकल सकती।

भरत पटेल की माने तो वह कुछ दिन पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद से दिल्ली में मुलाकात की थी। पार्टी छोड़ने की बात उन्होंने गुलाम नबी आजाद को बता दी थी। जिसके बाद आज उन्होंने कांग्रेस का दामन थाम लिया है बता दें कटरा विधान सभा से भरत पटेल टिकट की दावेदारी कर चुके थे। लेकिन उस विधानसभा का टिकट राजीव कश्यप को मिल गया था जिसके आज उन्होंने पार्टी छोड़ने का निर्णय ले लिया था आज उन्होंने कांग्रेस के सभी नेताओं के सामने कांग्रेस का झंडा थामकर कांग्रेस पार्टी का दामन थाम लिया है।

अभिषेक चौहान, संवाददाता