टॉपर घोटाले में नया सामने आया नया मोड

टना। इंटर फर्जी टॉपर घोटाले में अब एक नया मोड सामने आया है। बताया जा रहा है कि समस्तीपुर के शिवाजीनगर प्रखंड के संजय गांधी उच्च विद्यालय में फर्जी तरीके से छात्रों के रजिस्ट्रेशन की बिहार बोर्ड को पहले से जानकारी थी। इस बात का खुलासा रहियार के मुखिया प्रदीप कुमार महतो की शिकायत के बाद हुआ। प्रदीप कुमार ने साल 2016 में सितंबर महीने में विद्यालय के फर्जीवाड़े की शिकायत बिहार बोर्ड से की थी।

प्रदीप कुमार ने अपने शिकायत पत्र में जानकारी दी थी फर्जीवाड़े के जरिए विद्यालय की प्रधानाध्यापिका देव कुमारी और विद्यालय के पूर्व सचिव राम कुमार चौधरी मोटी कमाई करते हैं। फर्जीवाड़े के जरिए छात्रों से मोटी रकम वसूली जाती है जिसके बाद उन्हें विद्यालय में एडमिशन दिया जाता है।

साइकिल योजना, मुख्यमंत्री पोशाक योजना आदि सहायता की आड़ में पैसों की हेराफेरी होती है। जिस कारण अनुदान की राशि लंबित हो जाती है। कॉलेज में प्रशिक्षित टीचर भी नहीं होते हैं। शिक्षकों की कागज में प्रशिक्षित दिखाई जाता है जबकि जमीनी हकिकत कुछ और ही होती है। इस मामले में बोर्ड से शिकायत की गई थी और इस विषय में कार्रवाई की मांग की गई थी लेकिन बोर्ड ने कोई सख्ती नहीं दिखाई।