बच्चों को साक्षर और सशक्त बनाने के लिए ब्राहमीन्स कनेक्ट करेगा अंतरराष्ट्रीय विद्यालय की स्थापना

नई दिल्ली। ब्राहमीन्स कनेक्ट ने एक अंतरराष्ट्रीय स्तर स्कूल का निर्माण करने का निर्णय लिया है। यह निर्णय ब्राहमीन्स के कनेक्ट राष्ट्रीय संचालन परिषद की बैठक के दौरान प्रमुख सदस्यों द्वारा लिया गया था। राष्ट्रीय संचालन परिषद में हर क्षेत्र जैसे नीति अधिवक्ताओं, सरकारी अधिकारियों, मीडिया, कॉर्पोरेट, एक्सपर्ट्स, रक्षा क्षेत्र, और शिक्षा आदि क्षेत्र के ब्राह्मण समुदाय के प्रमुख सदस्यों द्वारा समुदाय को सशक्त बनाने के उद्देश्य के साथ यह फैसला लिया।

बैठक के दौरान श्री विकास शर्मा, अध्यक्ष, ब्राहमीन्स कनेक्ट ने जोर देकर कहा कि ज्ञान और शिक्षा का आदान-प्रदान एक बहुमूल्य उपहार है जो हम समुदाय और देश की प्रगती के लिए दे सकते हैं। शिक्षा एक व्यक्ति के मूल्यों और भविष्य को आकार देने में एक बड़ी भूमिका निभाती है जिससे उसे आर्थिक रूप से स्वतंत्र बना दिया जा सकता है।

उन्होंने कहा, हमें एक शिक्षा प्रणाली की आवश्यकता है जो की हमारे देश की संस्कृति का प्रतीक होने के साथ साथ अंतरराष्ट्रीय स्तर के बराबर हो – हम इस प्रकार की एक विद्यालय की स्थापना करना चाहते हैं जहाँ धर्म व जाती से उप्पर उठ के देश के हर वर्ग के छात्रों को आगे बर्डने का मौका मिले। समग्र शिक्षा समय की मांग है और इस उद्देश्य को प्राप्त करने के लिए हम एक स्कूल खोलना चाहते हैं। छात्र हमारे देश का भविष्य है, उचित शिक्षा व मार्गदर्शन होने से देश को विकास के पथ पर ले जाने में सक्षम होंगे।

उन्होंने इस बात को दोहराया कि ब्राह्मण विभिन्न क्षेत्र में नेतृत्व की भूमिका निभाते आ रहे हैं, जैसे सुरक्षा, चिकित्सा , इंजीनियरिंग, व्यापार, राजनीति, प्रशासन, मीडिया, मनोरंजन, खेल, शिक्षा, आदि। बढ़ती प्रतिस्पर्धा और सही सलाह की कमी की वजेह से ब्राह्मण युवा के साथ साथ अन्य योग्य बचे आगे बढ़ो नही पा रहे और अपनी पूरी क्षमता का एहसास करने में असमर्थ हो रहे हैं। सभी के लिए समग्र शिक्षा पर हमारा बल रहेगा जिसके कारण हम भविष्य की पीढ़ियों को सशक्त कर सकते हैं। राष्ट्रीय संचालन परिषद के सदस्यों ने सर्वसम्मति से विद्यालय के निर्माण का निर्णय लिया जो भारत की शिक्षा प्रणाली में एक नया मानक स्थापित करेगा।