प्यार के बदले मौत की सजा, पेड़ पर लटका मिला युवक का शव

फतेहपुर। कहते हैं प्यार अन्धा होता हैं प्यार करने वालो की न तो कोई जात होती हैं। और न ही समाज का खौफ प्यार करने वाले किसी परवाने से कम नहीं होते।प्यार के जूनून में इतने पागल हो जाते है कि उनको अपनी मौत की परवाह नहीं होती। ऐसा ही मामला फतेहपुर जिले में देखने को मिला जहाँ दो प्यार करने वालो की दीवानगी परिवार वालो को पसंद नहीं आयी। और आशिक की ह्त्या करके शव को फांसी के फंदे पर एक पेड़ पर लटका दिया। और महबूबा ने घटना स्थल पर अपने प्यार का इजहार करते हुए अपने ही परिवार वालो को प्रेमी के मौत का जिम्मेदार ठहरा दिया।

उत्तर प्रदेश फतेहपुर जिले के धाता थाना क्षेत्र के डेडासई गाँव निवासी राजेन्द्र सिंह किसानी करके अपने परिवार का पालन पोषण कर रहां था। छोटा बेटा सत्यबीर सिंह उर्फ कल्लू अपने पिता का खेती किसानी में हाथ बटवाता था। सत्यबीर का पड़ोस में ही रहने वाली लड़की से प्रेम प्रसंग हो गया और पहले तो अंदर ही अंदर यह लोग मिलते जुलते थे परिजनों की आँखे बचाकर मगर इनका प्यार छुप नहीं सका और दोनों के परिवार परिवार वालो को इनके प्यार की जानकारी हो गयी। दोनों समुदाय के परिजनों ने एक दुसरे को समझाया बुझाया मगर नतीजा कुछ नहीं निकला और दोनों प्यार की आग में जलते रहे। आखिर कार लड़की के परिवार वालो के मंसूबो को लड़के के परिवार वाले समझ न सके।

मृतक अपने खेत में ट्यूबबेल से पानी लगाने गया था तभी योजना बद्ध तरीके से प्रेमिका के घर वाले उसको घसीट कर ले गए और उसकी ह्त्या करने के बाद उसको आत्म ह्त्या में तब्दील करने की गरज से उसको लटका दिया वही घटना स्थल पर पहुंची प्रेमिका ने ग्रामीणों के सामने यह कहती रही की मेरे घर पर मेरे परिवार वाले इसको कत्ल करने की योजना बना रहे थे और मेरे पिता ने ही इसको मारा है क्यों की हम दोनों एक दूसरे को प्यार करते थे।

पुलिस मौके पर पहोच सव को अपने कब्जे में लेकर विच्छेदन ग्रह भेज दिया है। पुलिस क्षेत्राधिकारी समर बहादुर सिंह ने बताया की एक डेड बड़ी मिली है जिसमे आत्म हत्या जैसे लक्षण लगे है। मगर मृतक लड़के के पिता ने लड़की के पिता के खिलाफ हत्या का मुकदमा पंजीकृत करवाया है। जो भी साक्ष्य सामने आएंगे उस आधार पर कार्यवाई की जाएगी।

 -मुमताज़ अहमद इसरार