माध्यमिक शिक्षा बोर्ड परीक्षाएं दो मार्च से

जयपुर। माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की उच्च माध्यमिक एवं वरिष्ठ उपाध्याय परीक्षाएं 2 मार्च को प्रारम्भ होगीं तथा 25 मार्च को समाप्त होंगी। इसी प्रकार माध्यमिक एवं प्रवेशिका परीक्षायें 2 मार्च को प्रारम्भ होकर 22 मार्च को समाप्त होंगी। इस बार माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की परीक्षाओं में 19 लाख 62 हजार 880 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। परीक्षाओं की गोपनीयता को सभी स्तरों पर सुनिश्चित करने के साथ ही परीक्षा केन्द्रों पर विशेष सुरक्षा इंतजाम किए जाएंगे। इसके लिए पर्याप्त संख्या में होमगार्ड और पुलिस जाप्ते की भी पुख्ता व्यवस्था रहेगी। कुछ विशेष चिन्हित परीक्षा केन्द्रों पर सीसीटीवी कैमरो द्वारा भी निगरानी रखी जाएगी। शिक्षा एवं पंचायती राज विभाग मंत्री प्रो वासुदेव देवनानी ने सोमवार को शिक्षा संकुल में आयोजित माध्यमिक शिक्षा बोर्डए अजमेर की राज्य स्तरीय उच्चाधिकार प्राप्त परीक्षा समिति की बैठक में यह जानकारी दी।

उन्होने कहा कि बोर्ड परीक्षाओं में नकल रोके जाने के लिए सभी स्तरों पर पुख्ता इंतजाम होंगे। आवश्यकतानुसार परीक्षा केन्द्रों पर सीसीटीवी कैमरे और विडियोग्राफी की भी व्यवस्था की जाएगी। इसके अलावा राज्य के जिलों में विशेष चिन्हित परीक्षा केन्द्रों पर जिला परीक्षा संचालन समिति एवं जिला कलक्टरों द्वारा माइक्रो ऑब्जर्वर भी लगाए जाएंगे। प्रो देवनानी ने बैठक में बोर्ड परीक्षाऎं पूर्ण गोपनीयता के साथ कराये जाने के साथ ही विभिन्न व्यवस्थाओं का अभी से प्रभावी इंतजाम करने के लिए भी अधिकारियों को निर्देश दिये। उन्होंनें कहा कि इस बार प्रदेश के सभी संवेदनशील एवं अति.संवेदनशील परीक्षा केन्द्रों सहित लगभग 300 केन्द्रों पर तथा 60 उत्तर पुस्तिकाओं के संग्रहण एवं वितरण केन्द्रों पर सीसीटीवी द्वारा निगरानी रखी जाएगी। केन्द्रों पर विशेष पुलिस जाप्ता तैनात किये जाने तथा वहां पर शिक्षा अधिकारियों के साथ ही जिला प्रशासन के अधिकारियों द्वारा भी विशेष निगरानी रखी जाने के लिए उन्होंने बैठक में निर्देश दिए।

बैठक में बताया गया कि इस वर्ष माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा 5392 परीक्षा केन्द्र चिन्हित किए गए हैं। इनमें से 65 संवेदनशील तथा 34 केन्द्रों को अति.संवेदनशील के रूप में चिन्हित किया गया है। परीक्षाओं के दौरान जिला मुख्यालयों पर पुलिस नियंत्रण कक्ष व आरक्षित पुलिस बलों की व्यवस्था रहेगी। दौसाए करौली, सवाई माधोपुर, बाड़मेर, जोधपुर, नागौर, सीकर व झुन्झुनू जिलों में परीक्षा केन्द्रों एवं प्रश्न पत्रों की सुरक्षा की दृष्टि से विशेष सुरक्षा व्यवस्था की जाएगी।

शिक्षा राज्य मंत्री ने बताया कि निजी विद्यालयों के परीक्षा केन्द्रों पर माइक्रो ऑब्जर्वर नियुक्त किए जायेंगे तथा केन्द्राधीक्षक एवं अन्य नियुक्त स्टाफ के विरूद्व प्राप्त किसी भी प्रकार की परीक्षा संबंधित शिकायतों पर त्वरित अनुशासनात्मक कार्यवाही की जावेगी। उन्होंने बताया कि जिलों में प्रश्न पत्रों का वितरण केन्द्र पर केन्द्राधीक्षकों को प्रश्न पत्र वितरण हेतु सशस्त्र पुलिस की व्यवस्था की जाएगी तथा प्रश्न पत्रों को कोषागार अथवा पुलिस लाइन में रखे जाने की व्यवस्था के लिए भी उन्होंने सबिंंधत अधिकारियों को बैठक में निर्देश दिए। प्रो0 देवनानी ने बताया कि बोर्ड परीक्षाओं के लिए इस बार यह भी व्यवस्था की जा रही है कि परीक्षक का रजिस्ट्रेशन आवश्यक रूप से करवाया जाए। इस संबंध में शिक्षा विभाग द्वारा जारी शाला दर्पण में बोर्ड द्वारा जारी परीक्षक क्रमांक का इन्द्राज अनिवार्य रूप से किए जाने तथा आवश्यक कार्यवाही शीघ्र प्रारंभ करने की भी उन्होंनें हिदायत दी।

बैठक में माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष बीआर चौधरी ने बताया कि माध्यमिक शिक्षा बोर्ड परीक्षाओं के लिए सभी स्तरों पर व्यवस्थाओं के अंतिम रूप दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि परीक्षाओं के लिए जिला परीक्षा संचालन समितियों का गठन किया जा रहा है। इसके अलावा इस बार परीक्षाओं की संयुक्त निरीक्षण व्यवस्था भी रहेगी। इसके अंतर्गत सभी उपखंड मजिस्ट्रेट एवं वृत्ताधिकारी तथा तहसीलदार एवं थानाधिकारी द्वारा संयुक्त निरीक्षण की सतत कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने बताया कि प्रश्न पत्र रखने वाले केन्द्रों के आकस्मिक निरीक्षण की व्यवस्था भी की जाएगी। शिक्षा विभाग के शासन सचिव नरेशपाल गंगवार ने बोर्ड परीक्षाओं से संबंधित कार्यों को प्राथमिकता में रखते हुए समयबद्ध सारी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।