आखों पर पट्टी बांध कर सब कुछ पढ़ और पहचान लेती है द्रष्टी

रोहतास। भगवान कुछ ही लोगों को इस प्रकार की शक्तियां देता है,जैसी बिहार की द्रष्टी को दी है। बिहार के रोहतास जिले की एक नौ वर्षीय बच्ची को अपनी एकाग्रशक्ति द्वारा आंखों पर पट्टी बांध कर भी सबकुछ दिखता है,यह अखबार पढ़ लेती है और सामने आये लोगों को पहचान लेती है।

अंतराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर स्कूल द्वारा आयोजित कार्यक्रम में बच्ची ने योग का चमत्कार दिखा कर सबको आश्चर्यचकित कर दिया। लड़की का नाम दृष्टि कुमारी है और वह पांचवी क्लास में पढ़ती है। द्रष्टी ने विद्यालय मस्तिष्क को एकाग्रचित करने की अदभुत क्षमता का प्रदर्शन किया। विद्यालय में आंख पर पट्टी बांध दी गयी। जिसके बाद भी वह अखबार ,किताब ले कर पढने लगी। उसके सामने स्कूल के ही एक बच्चे को लाया गया, तो उसने उस बच्चे का नाम बता दिया। उसके इस कारनामे को देख सभी अचमभे में है।

काराकाट थाना के जोन्ही निवासी देवेंद्र सिंह की पुत्री है द्रष्टी, बच्ची ने बताया की इसके पहले वह अपने माता-पिता के साथ पानीपत में रहती थी। वहीं उसका नाम योगा में लिखाया गया था। योग में एकाग्रता का अभ्यास भी कराया गया था। बच्ची ने कही की अभ्यास के दौरान उसे एक बड़े स्क्रीन पर वीडियो दिखाया जाता था, फिर अंधेरे कमरे में एक मोमबत्ती जलाकर एकाग्रचित होने का अभ्यास कराया जाता था। इसी योग शक्ति के बल पर आंख पर पट्टी बांधने के बाद भी सबकुछ पढने और पहचान लेने में सक्षम है।

द्रष्टी की मां नीशा देवी ने बताया की द्रष्टी पहले कुछ ज्यादा ही चंचल दिमाग की थी। इसलिए योगाभ्यास करने के लिए नाम लिखा दिया था। आज वह पढ़ने में काफी अच्छी है। योग का लाभ मिला है।