बीजेपी ने पानी की कीमतों में 20 प्रतिशत वृद्धि का किया विरोध

नई दिल्ली। बीजेपी ने दिल्ली जब बोर्ड द्वारा पानी की दरों में 20 प्रतिशत वृद्धि को जनता के साथ विश्वासघात करार दिया है। पार्टी प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने मंगलवार को उपराज्यपाल अनिल बैजल से मुलाकात कर इस वृद्धि को तत्तकाल वापस लेने की मांग की है। दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने उपराज्यपाल से मुलाकात के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा कि पानी की दरों में 20 प्रतिशत बढ़ोतरी से कल तक मेट्रो किराये पर घड़ियाली आंसू बहाने वाली अरविंद केजरीवाल सरकार का असली चेहरा जनता के सामने आ गया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली जल बोर्ड एक भ्रष्ट सफेद हाथी है और केजरीवाल सरकार के भ्रष्टाचार को संरक्षण की कीमत अब जनता चुकाएगी। इस दाम बढ़ोतरी से जनता पर 500 से 600 करोड़ रुपये का अतिरिक्त भार पड़ेगा।

delhi jal bord

बता दें कि पहले ही जनता केजरीवाल सरकार के संरक्षण में निजी बिजली कम्पनियों की अतिरिक्त प्रभार के रूप में की जा रही लूट से परेशान है और अब यह पानी के दर में बढ़ोतरी का बोझ। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि केजरीवाल सरकार ने सत्ता में आते ही 20 हजार लीटर पानी निःशुल्क देने की घोषणा की थी और दावा किया था कि इसका लाभ 20 लाख उपभोक्ताओं को होगा पर धरातल पर सत्य यह है कि फ्री पानी आज दिल्ली में 20 लाख तो दूर 2 लाख उपभोक्ताओं को भी नहीं मिल रहा है। तिवारी ने कहा कि भाजपा पानी की दरों में 20 प्रतिशत बढ़ोतरी के साथ ही बिजली कम्पनियों की अतिरिक्त प्रभार की लूट का विरोध करती है और इन मूलभूत सुविधाओं के दामों में बढ़ोतरी को वापस लेने के लिये केजरीवाल सरकार को बाध्य करेगी।