भाजपा ने कुर्सी पाने के लिए किए थे वादे: अखिलेश यादव

लखनऊ । पूर्व मुख्यमंत्री और  समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा सरकार को विधानसभा चुनाव  के दौरान किए गए वादों पर घेरा  है। प्रदेश में कानून व्यवस्था बिगडऩे का ठिकरा भाजपा सरकार के सर पर रखते हुए कहा किसानों की कर्जमाफी भी सिर्फ और सिर्फ एक झूठा वादा बन कर रह गई है। भाजपा ने उत्तर प्रदेश में सरकार बनाने के लिए जनता से वादे किये थे।

शनिवार को सुबह पूर्व मुख्यमंत्री ने पहले अपने ट्विटर हैंडल से भाजपा सरकार को घेरते हुए लिखा उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था दिन पर दिन बिगड़ती जा रही है। फिर सपा के प्रदेश कार्यालय में समर्थकों के साथ बातचीत में कहा कि यूपी में कानून खत्म होता दिखाई कदे रहा है। लूट, हत्या और रैप जैसी वारदातें बढ़ती जा रही है। सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, अमरोहा. बिजनौर, अलीगढ़, गोंडा में जातीय व सांप्रदायिक हिंसा लगातार बढ़ती नजर आ रही है। माहौल बिगड़ाने वालों पर पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है। सपा कार्यकर्ताओं की जिम्मेदारी है कि वह सदभाव बनाने की दिशा में कार्य करें।

 

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि लोकतंत्र में हार-जीत का दौर चलता ही रहता है। सरकार पूरे प्रदेश की जनता की होती लेकिन भाजपा सरकार में भेदभाव होता दिखाई दे रहा है। भाजपा सरकार ने जनता को दो महीनों ही निराश कर दिया है। कार्यकर्ताओं से कहा की किसी भी तरहा के  अन्याय से घबराएं मत संघर्ष करो। निचे पायदान में जीवन यापन कर रहे लोगों की मदद करने के लिए आगे आयें। समाजवदी पार्टी का सदस्यता अभियान चल रहा है। इसमें और तेजी लाने की जरुरत है संगठन जितना मजबूत होगा, आवाज में उतनी अधिक ताकत होगी। झूठ के बल पर सत्ता में पहुंची भाजपा की पोल खोलने में किसी भी तरहा का संकौच नहीं होना चाहिए ।

 

अखिलेश यादव ने कहा कि जिलों मे हो रही आपराधिक वारदातों का ब्योरा तैयार कर उसे पार्टी कार्यालय भेज दिया जाए । ताकि जब भी विधानसभा सत्र बुलाया जाए तो उसे पुरेजोर तरीके से उठाया जा सके।