नाराज किसानों को मनाने के लिए बीजेपी ने शुरू की यात्रा, कांग्रेस बोली ड्रामा है

भोपाल। प्रदेश के नाराज किसानों को मनाने और सरकार का नजरिया समझाने के लिए भाजपा की किसान संदेश यात्रा मंगलवार से पूरे प्रदेश में शुरू हो गई। ये यात्राएं डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी की जन्मतिथि पर संपन्न होंगी। इधर, कांग्रेस ने इन यात्राओं को भी मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के उपवास की तरह एक ड्रामा करार दिया है। किसान आंदोलन, मंदसौर कांड और किसानों की लगातार आत्महत्याओं के कारण प्रदेश सरकार की किसान मित्र की छवि को नुकसान हुआ है। सरकार की इस छवि को बरकरार रखने और प्रदेश के किसानों तक अपनी बात पहुंचाने के उद्देश्य से प्रदेश भाजपा ने मंगलवार से पूरे प्रदेश में किसान संदेश यात्राएं शुरू कर दीं।

बता दें कि प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमारसिंह चौहान ने रीवा जिले से इन यात्राओं का शुभारंभ किया। इन यात्राओं में शामिल नेता और कार्यकर्ता किसानों को केंद्र की मोदी सरकार और प्रदेश की भाजपा सरकार द्वारा उनके कार्यकाल में कृषि और किसानों की हालत सुधारने के लिए उठाए गए कदमों तथा लागू की गई योजनाओं की जानकारी देंगे। हर विधानसभा क्षेत्र में बूथ स्तर तक पहुंचने वाली ये यात्राएं डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी के जन्मदिवस यानी 6 जुलाई को मंडल मुख्यालयों पर पहुंचकर संपन्न होंगी। इन यात्राओं को नेतृत्व पार्टी के विधायक एवं अन्य जन प्रतिनिधि करेंगे। यात्रा के दौरान आने वाले हाट- बाजारों में तथा नुक्कड़ सभाओं के जरिए किसानों को पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकारों द्वारा उनके साथ किए गए भेदभाव तथा भाजपा सरकार द्वारा उनकी बेहतरी के लिए किए गए प्रयासों की जानकारी दी जाएगी।

इधर, मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने भाजपा की किसान संदेश यात्रा को एक और ड्रामा बताया है। पार्टी के वरिष्ठ नेता कमलनाथ ने कहा है कि प्रदेश में हर दिन किसान आत्महत्या कर रहे हैं। पिछले 20 दिनों में 29 परेशान किसान मौत को गले लगा चुके हैं और भाजपा यात्रा निकाल रही है। कमलनाथ ने कहा कि भाजपा की किसान यात्रा तभी सार्थक कही जा सकती है, जब वह किसानों की तकलीफों को दूर करे अन्यथा मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के उपवास की तरह यह यात्रा भी एक और ड्रामा ही साबित होगी। वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने कहा कि इस यात्रा के प्रचार-प्रसार पर जो लाखों रुपए खर्च किए जा रहे हैं, यह राशि अगर किसानों के कल्याण और उनके हित पर खर्च की जाए, तो यात्रा सार्थक हो जाएगी।