शपथ पत्र में प्रत्याशी ने दी झूठी जानकारी!

शाहजहांपुर।  यूपी के शाहजहांपुर में एक आरटीआई मे खुलासा हुआ है तिलहर विधानसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी वर्तमान विधायक ने अपने नामांकन कराने के दौरान शपथ पत्र में झूठी सूचना दी है। प्रत्याशी ने अपने शपथ पत्र मे दर्शाया कि वह आठवीं क्लास पास है। लेकिन एक आरटीआई मे खुलासा हुआ कि बीजेपी प्रत्याशी ने अपनी शिक्षा की झूठी जानकारी दी है। जिसके बाद आज बीजेपी की पूर्व नेत्री एंव तिलहर विधानसभा से निर्दलीय प्रत्याशी रागिनी सिंह ने एसडीएम को एक शिकायती पत्र दिया है साथ ही आरटीआई से  हुई जानकारी की भी एक कॉपी देकर बीजेपी प्रत्याशी के खिलाफ शिकायत की है। निर्दलीय प्रत्याशी रागिनी सिंह का कहना है कि बीजेपी के घोषित प्रत्याशी ने चुनाव आयोग को गुमराह किया है। इसलिए उनका नामांकन निरस्त किया जाए।

शाहजहांपुर के तिहलर विधानसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी वर्तमान विधायक रोशन लाल वर्मा ने अपने नामांकन के दौरान शपथ पत्र मे दर्शाया था कि उन्होंने आदर्श इंटर कालेज निगोही से आठवीं क्लास की शिक्षा ग्रहण की है। लेकिन आरटीआई मे हुए खुलासे की माने तो सन 1972-73 मे आदर्श इंटर कॉलेज निगोही मे रोशन लाल वर्मा नामक छात्र के रूप मे वर्ष 1972-73 मे विद्यालय के अभिलेखों मे कक्षा आठ मे रोशन लाल वर्मा का नाम पंजीकृत नही है। दरअसल निगोही कस्बे के रहने वाले राजकिशोर ने जिला विद्यालय निरीक्षक से सूचना अधिकार के अंतर्गत एक बीजेपी प्रत्याशी की शिक्षा के बारे मे जानकारी मांगी थी।

जिला विद्यालय निरीक्षक ने आरटीआई के तहत दी जानकारी में बताया कि रोशन लाल वर्मा आरटीआई मे दी गई सुचना की माने तो रोशन लाल वर्मा वर्ष 1972-73 मे पंजीकृत ही नहीं था तो उनके पहले वाले छात्र तथा उनके बाद वाले छात्र के s.r.no. का प्रश्न ही नही उठता। इस आरटीआई के खुलासे के बाद बीजेपी की पूर्व नेत्री एवं तिहलर विधानसभा सीट से निर्दलीय प्रत्याशी रागिनी सिंह ने एसडीएम को आरटीआई की लिखित जानकारी के साथ एक शिकायती पत्र दिया है। जिसमे उन्होंने मांग की है कि रोशन लाल वर्मा का नामांकन पत्र निरस्त किया जाए। और साथ ही ऐसी झूठी सूचना देने वाले को चुनावी प्रक्रिया से हटाया जाए।

बीजेपी की पूर्व नेत्री तिलहर विधानसभा सीट निर्दलीय प्रत्याशी रागिनी सिंह का कहना है कि ऐसे कैसे कोई विधायक नामांकन पत्र के दौरान शपथ  पत्र मे झूठी सूचना दे सकता है। इस तरह से विधायक ने सबको गुमराह किया है। विधायक की आठवीं पास की झूठी सुचना को आरटीआई ने साफ कर दिया है। ऐसे कोई भी प्रत्याशी झूठी सूचना देकर चुनाव नहीं लङ सकता है। बता दें कि ये वही रागिनी सिंह है जिन्होंने रोशन लाल वर्मा को बीजेपी से टिकट मिलने के बाद अपने खून से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को लेटर लिखकर नाराजगी जताई थी।

अभिषेक, संवाददाता