गुजरात चुनाव के रूझानों ने लगाई नोटबंदी और जीएसटी के सही होने पर मुहर

नई दिल्ली। गुजरात चुनाव के नतीजों के दौरान जिस तरह बीजेपी की जीत नजर आ रही है। ऐसे में ये मानने की जरूरत है कि लोगों ने जीएसटी और नोटबंदी जैसे मुद्दों में सरकार का साथ दिया है। क्योंकि विपक्ष ने जीएसटी और नोटबंदी को बीजेपी के खिलाफ एक मुद्दा बना दिया था। इस पर राष्ट्रीय लोक वित्त और नीति संस्थान की सलाहकार और अर्थशास्त्री राधिका पांडे का कहना है कि गुजरात की जनता की ओर से बीजेपी को बहुमत मिलना इस बात का सबूत दे रहा है कि जनता पीएम के जीएसटी और नोटबंदी के मुद्दों पर सरकार के साथ है और सरकार भी दूसरे चरण के कड़े रिफॉर्म पर आक्रमक तरीके से आगे बढ़ेगी। उन्होंने आगे यह भी कहा कि गुजरात और हिमाचल की जनता ने नोटबंदी और जीएसटी के सरकार के फैसले का समर्थन किया है।

gst notbandi
gst notbandi

बता दें कि उनका कहना है कि सरकार रिफॉर्म के साथ जनता को यह संदेश देने में सफल रही कि कोई भी रिफॉर्म थोड़े समय के लिए कष्ट देने वाला हो सकता है लेकिन लंबे समय में इसका फायदा जनता को मिलेगा। इसी कारण गुजरात और हिमाचल दोनों ही राज्यों में बीजेपी को स्पष्ट बहुमत देखने को मिल रहा है। आसिफ इकबाल का मानना है कि दोनों की राज्यों में बीजेपी की बढ़त मिलने के बाद यह साफ है कि सरकार की ओर से उठाए गए कदमों पर जनता साथ है। ऐसे में सरकार की ओर से आगे भी कड़े रिफॉर्म किये जाएंगे जो हर लिहाज से अर्थव्यवस्था के लिए सकारात्मक होगा। आसिफ का कहना है कि इन चुनाव नतीजों के बाद सरकार बेनामी संपत्ति, एफआरडीआई बिल, बैंक एनपीए जैसे मुद्दों पर और आक्रामक ढंग से आगे बढ़ेगी।