जन्मदिन विशेषः काका का वो जादू जो कभी उतरा नहीं

नई दिल्ली। आज भारत के पहले सुपरस्टार राजेश खन्ना का जन्मदिन है। आज अगर काका हमारे बीच होते तो अपना 75वां जन्मदिन मना रहे होते। राजेश खन्ना ने बॉलीवुड में जो काम किया है वो योगदान अतुलनीय है और कभी ना भूलने वाला है। बैक टू बैक 15 सुपरहिट फिल्में देने का रिकॉर्ड अब तक उनके नाम पर दर्ज है। इस रिकॉर्ड को अभी तक कोई तोड़ नहीं पाया है। राजेश खन्ना ने अपनी अदाओं से जो जादू चलाया वो अभी तक खत्म नहीं हो पाया।

राजेश खन्ना को इंडस्ट्री में प्यार से काका बुलाया जाता था। राजेश खन्ना कि फिल्मों में आराधना, सच्चा झूछा, कटी पतंग, हाथी मेरे साथी, मेहबूब की मेहंदी, आनंद, आपकी कसम से फिल्मों में जो अपनी पहचान बनाई उसे भूल पाना नामूमकिन है। राजेश खन्ना का असली नाम जतिन खन्ना था। उनके अंकल ने उनका नाम राजेश खन्ना कर लिया था। शायद ये उनके नाम का जादू था कि जो फिल्में जबरदस्त सुपरहिट हुईं और उस दौर में पैदा हुए काफी बच्चों का नाम राजेश रख दिया गया।

 

राजेश खन्ना जब अपने बुलंदी पर पहुंचे तो एक कहावत मशहूर हो गई- ऊपर आका नीचे काका। राजेश खन्ना की फिल्म आराधना जब रिलीज हुई तब तक राजेश खन्ना पांच फ्लॉप फिल्में दे चुके थे और लोग उन्हें ज्यादा पसंद नहीं करते थे, लेकिन जब आराधना खत्म हुई तो लोगों में राजेश खन्ना के नाम का हल्ला मच गया।

काका रातों-रात सुपरस्टार बन गए। इसके बाद सच्चा झूठा, दो रास्ते, कटी पतंग, आनंद जैसी एक से बढ़ कर एक धमाकेदार फिल्में दी। लड़कियों में उनको लेकर क्रेज हो गया। जब राजेश खन्ना की गाड़ी कहीं रुकती तो लड़कियां सफेद गाड़ी को अपने किस से लाल कर दिया करती थीं। राजेश खन्ना की गर्दन धुकाकर आंखे मीचकर डॉलाग बोलना और गाने गाने पर दुनिया फिदा थी।

एक बार का किस्सा ये था कि पाइल्स के ऑपरेशन के लिए राजेश खन्ना को अस्पताल में भर्ती होना पड़ा था। अस्पताल में उनके इर्द-गिर्द के कमरे निर्माताओं ने बुक करा लिए ताकि मौका मिलते ही वे राजेश को अपनी फ़िल्मों की कहानी सुना सके क्योंकि सफलता की गारंटी थे राजेश खन्ना।

राजेश खन्ना पर सबसे ज्यादा आवाज जंचती थी किशोर कुमार की और उनके 40 फिल्मों में संगीत दिया था आर डी बरमन ने। वे गाने की रिकॉर्डिंग के वक्त स्टुडियो में रहना पसंद करते थे और अपने सुझावों से संगीत निर्देशकों को अवगत कराते थे। मुमताज और शर्मिला टैगोर के साथ राजेश खन्ना की जोड़ी को काफी पसंद किया गया। मुमताज़ के साथ उन्होंने 8 सुपरहिट फ़िल्में दी।

राजेश खन्ना ने उस वक्त सबको चौंका दिया जब एक फिल्म पुरानी डिंपल कपाड़िया से उन्होंने शादी कर ली। लाखों-करोड़ों लड़कियों के दिल टूट गए।हालांकि राजेश के साथ डिंपल का रिश्ता ज्यादा अच्छा चल नहीं पाया। एक वक्त राजेश का नाम टीना मुनिम के साथ भी जुड़ा। कुछ वक्त बाद वो तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी के कहने पर राजनीति में भी आए।

कांग्रेस की तरफ से कुछ चुनाव भी उन्होंने लड़े। जीते भी और हारे भी। लालकृष्ण आडवाणी को उन्होंने चुनाव में कड़ी टक्कर दी और शत्रुघ्न सिन्हा को हराया भी। बाद में उनका राजनीति से मोहभंग हो गया। अपने रोमांस के जादू से दर्शकों को मंत्रमुग्ध करने वाले किंग ऑफ रोमांस 18 जुलाई 2012 को इस दुनिया को अलविदा कह गए।