जन्मदिन विशेषः एक हादसे ने पूरी तरह बदल दी थी अनु अग्रवाल की जिंदगी

नई दिल्ली। आज बॉलीवुड अभिनेत्री अनु अग्रवाल अपना 49वां जन्मदिन मना रहीं हैं।आशिकी में लोगों को अपना दिवाने बनाने वाली अनु कब अचानक से पर्दे पर से गायब हो गईं पता ही नहीं चला। अपनी एक ही फिल्म से लोगों की दिलों में समाने वाली अनु के बारे में आईये जानते हैं दिलचस्प किस्से-

 

11 जनवरी 1969 को दिल्ली में पैदा हुई अनु अग्रवाल उस समय दिल्ली यूनिवर्सिटी से सोशलसाइंस की पढ़ाई कर रही थीं, जब महेश भट्ट ने उन्हें अपनी आने वाली म्यूजिकल फ़िल्म ‘आशिकी’ में पहला ब्रेक दिया। यह फ़िल्म ज़बरदस्त कामयाब रही और महज 21 वर्ष की उम्र में एक्टिंग की दुनिया में अनु ने कदम रखा। इस फिल्म के गीत को बेहद पसंद किया गया।आज भी इस फिल्म के गाने लोगों की जुबान पर चढ़े हुए हैं।

इस फिल्म के बाद लोगों को अनु की मासूमियत भा गई थी और सबको लगा था कि बॉलीवुड को एक नया सितारा मिल गया है। उन्होंने खलनायिका, किंग अंकल, कन्यदान जैसी कई फिल्में की, लेकिन एक भी ऐसे नहीं चली जो अनु को हिंदी सिनेमा में स्थापित कर सकें।अनु को शायद समझ आ गया कि वो फिल्मों के लिए नहीं बनी और उन्होंने अपना पूरा ध्यान योग और अध्यात्म की ओर लगा दिया।

अनु की जीवन की कहानी किसी भयानक फिल्मी कहानी की तरह लग सकती है। 1999 में अनु एक बड़े सड़क हादसे का शिकार हो गईं। इस हादसे ने उनसे चलने-फिरने की शक्ति और याद्दाश्त दोनों छीन ली।3 साल के इलाज के बाद धीरे-धीरे बड़ी मुश्किल से अनु खुद को जान पाईं।उन्होंने अपनी सारी संपत्ति दान कर दी और सन्यास की राह चुन ली। आज अनु बॉलीवुड से भले दूर हूं, लेकिन उनकी एक ही फिल्म की दीवानगी को कभी नहीं भुलाया जा सकेगा।