जानिए: क्यों चाचा नेहरू का ही जन्मदिन बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है

नई दिल्ली। ये तो सभी जानते हैं कि पंड़ित जवाहर लाल नेहरू के जन्मदिन को बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है। लेकिन क्यों मनाया जता है ये बात बहुत कम लोग ही जानते होंगे। दरअसल नेहरू जी को बच्चे बहुत ज्यादा पसंद थे वो अपना ज्यादातर वक्त बच्चों के बीच हा बीताते थे। नेहरू हमेंशा बच्चों को लेकर अपना प्यार और लगाव जाहिर करते रहते थे।

childrens day
childrens day

जहावर लाल नेहरू ने भारत को आजादी दिलाने से लेकर और अजादी के बैद 500 देसी रियातों को एक झंड़े के निचे लाने से लेकर देश के युवाओं के लिए रोजगार आदि जैसे कामों पर आधुनिक भारत के निर्माण में अहम भूमिका निभाई थी। नेहरू ने आयोग का गठन करने के बाद पंचवर्षीय योजनाओं का शुभारंभ किया जिससे भारत में उद्योग का एक नया युग शुरू हुआ। नेहरू ने भारत की विदोश नीति में भी अहम भूमिका निभाई।

बता दें कि आज के समय में भारत के बच्चे हर क्षेत्र में अपने देश का नाम रोशन कर रहे हैं और दुनिया में एक मिसाल कायम कर रहे हैं। भारत के बच्चे कला, विज्ञान, अध्यात्म किसी भी क्षेत्र में भारत किसी से भी कम नहीं है। भारत देश के बच्चों के लिए इसी तरह का सपना चाचा नेहरु ने देखा था। स्कूलों में इस दिन को खास बनाने के लिए कार्यक्रम रखे जाते हैं। फैंसी ड्रेस, डांस, नाटक आदि जैसे कार्यक्रम रखे जाते हैं।

इस दिन नेहरु जी की सीख बच्चों को समझाने का प्रयास किया जाता है। इस तरह से बच्चों के जीवन में चाचा नेहरु के महत्व को बनाए रखने का प्रयास किया जाता है। कई देशों में बाल दिवस 1 जून को मनाया जाता है। वहीं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बाल दिवस या चिल्ड्रन डे 20 नवंबर को मनाया जाता है। इस दिन चाचा नेहरु के इन संदेशों को बच्चों तक इन शानदार व्हॉट्सऐप और फेसबुक मैसेज के जरिए पहुंचाएं।