सीएम के आदेश पर नगर पालिका में लगाई गई बायोमेट्रिक मशीन

मेरठ। सीएम के आदेशो का असर इस कदर हो रहा है, कि अब मेरठ के मवाना की नगर पालिका कर्मचारियों की हाजरी के मामले में, प्रदेश की सबसे पहली नगरपालिका बन गई है, जी हां सी एम् योगी आदित्यनाथ ने 27 तारिख को घोषणा की थी कि जगह बायोमेट्रिक मशीन लगाई जाए, और अधिकारियो व कर्मचारियों की हाजिरी मशीन से की जाए, तो आज मेरठ की मवाना नगरपालिका ने इसकी शुरुआत कर दी है।

बता दें कि अधिकारियां और कर्मचारियों की कार्यालयों में समय से और उपस्थिति के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ ने 27 मार्च को घोषणा की थी कि सभी विभागों में बायोमेट्रिक मशीन लगाई जाए, और सभी की हाजरी इसी मशीन से की जाए, ये मशीन रियाल टाइम अटेंडेंस सिस्टम होता है, इसमें अधिकारियो और कर्चारियों के आने व जाने का सही समय कैद हो जाता है, और साथ ही अगर कोई भी विभाग में छुट्टी करेगा तो उसका भी रिकॉर्ड मशीन में देखा जा सकेगा।

इस घोषणा के बाद कई विभागों में तैनात अधिकारी और कर्मचारियों के सीने पर सांप जरूर लेटते दिख रहे है, जो समय से अपने दफ्तर में नही जाते या छुट्टी मरकर अपने प्राइवेट काम करते है, ऐसे सरकारी मुलाजिमों पर नकेल कसने के लिए ही सीएम ने ये सिस्टम लगाने के आदेश दिए थे। लेकिन मेरठ की मवाना नगरपालिका ने इसका खुलकर स्वागत किया और आज इस मशीन को लगाकर सभी अधिकारियो कर्मचारियों की हाजरी ली गई, इससे कही न कही काम भी ज्यादा होगा और अधिकारी कर्मचारी जनता को भी बेहतर सुविधा दे पाएंगे, सबसे पहले मेरठ के मवाना की नगरपालिका ने मशीन लगाई है और पदेश की सबसे पहली ऐसी नगरिपालिका बना गई है जिसमे मशीन से हाजरी होगी।

 -शानू भारती