बिहार में 1.25 करोड़ की शराब पर चला बुलडोजर, चूहे पी रहे थे शराब

पटना। पटना प्रशासन ने प्रदेश में शराबबंदी लागू होने के बाद राज्य में 1.25 करोड़ की शरीब पकड़कर नष्ट कर दी है। इन बोतलो को पटना के जिलाधिकारी संजय अग्रवाल की निगरानी नष्ट किया गया। बिहार में शराबबंदी लागू होने के बाद पटना के विभिन्न स्थान से इन शराब की बोतलों को पिछले कुछ महीनों के दौरान बरामद किया गया था। इन सभी मामलों में कोर्ट में केस चला और उसके बाद कोर्ट के आदेश पर ही इन शराब की बोतलों को आज नष्ट किया गया।

बता दें कि इससे पहले मीडिया द्वारा दिखाया गया था कि इस शराब को किस तरह बिहार के थानों के मालखाने में रखी करोड़ों रुपए की शराब चूहे पी रहे हैं। इस खबर के दिखाए जाने के बाद पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया और इसके बाद पटना प्रशासन ने 17 हजार शराब की बोतलों को नष्ट किया था। पटना के जिलाधिकारी संजय अग्रवाल का कहना है कि जिस शराब की खेप को आज नष्ट किया गया वह विभिन्न राज्यों जैसे हरियाणा और झारखंड से बिहार तस्करी करके लाई गई थी और आगे इन्हें विभिन्न ठिकानों पर पहुंचाया जाना था। जिलाधिकारी का आगे कहना है कि आने वाले वक्त में और शराब की बोतलों को नष्ट किया जाएगा।

साथ ही बिहार में पिछले साल अप्रैल के महीने में शराब बंदी लागू की गई थी और पिछले 1 साल में हरियाणा, उत्तर प्रदेश और झारखंड के रास्ते करोड़ों रूपए की शराब तस्करी कर बिहार लाई जा रही है। पुलिस के अनुसार पिछले 1 साल में 5 लाख लीटर विदेशी शराब और 3 लाख लीटर देशी शराब जब्त की जा चुकी है। बरामद की गई शराब में से अब तक 1.55 लाख लीटर शराब को राज्य के 20 जिलों में नष्ट किया जा चुका है।