बिहार, झारखंड के शिवालयों में भक्तों का तांता

पटना/देवघर। बिहार व झारखंड के शिवालयों में सावन के पहले सोमवार पर भक्तों का तांता लगा है। मंदिरों को आकर्षक ढंग से सजाया गया है। झारखंड के देवघर स्थित बैद्यनाथ धाम और वासुकीनाथधाम मंदिर के मार्ग कांवड़ियों के बोल-बम के जयकारों से गूंज रहे हैं। सुल्तानगंज से उतरवाहिनी गंगा का पवित्र जल लेकर 105 किलोमीटर पैदल यात्रा कर कांवड़िये बैद्यनाथ धाम पहुंचकर कामना लिंग पर जलाभिषेक कर रहे हैं। सुबह तीन बजे की विशेष पूजा के बाद से ही यहां भक्तों द्वारा जलाभिषेक शुरू हो गया है, जिसका सिलसिला लगातार जारी है।

Shiwalyon influx of devotees

बैद्यनाथ धाम में मुख्य मंदिर से पहले कांवड़ियों की करीब 10 किलोमीटर लंबी कतार लगी हुई है। मेला क्षेत्र में सुरक्षा व्यवस्था की देखरेख कर रही देवघर की पुलिस अधीक्षक ए़ विजयलक्ष्मी ने सोमवार को बताया कि सुबह करीब 10 बजे तक 40 हजार से अधिक कांवड़िये बाबा का जलाभिषेक कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि कांवड़ियों की 10 किलोमीटर तक लंबी कतार लगी हुई है। उन्होंने कहा कि पहले सोमवार को एक लाख से ज्यादा कांवड़ियों की मंदिर में जलाभिषेक करने की संभावना है। मंदिर का पट रात को श्रृंगार पूजा के बाद बंद कर दिया जाएगा।

वासुकीनाथ मंदिर में भी बाबा के भक्तों का आना जारी है। यहां भी सुबह से ही भक्तों की लंबी कतार लगी हुई है। बिहार की राजधानी पटना के बैकुंठपुर मंदिर, गायघाट के गौरीशंकर मंदिर, पटना सिटी के तिलेश्वर महादेव मंदिर, अलखिया बाबा मंदिर सहित झारखंड की राजधानी रांची में पहाड़ी मंदिर में भी सुबह से ही भक्तों की भारी भीड़ है। इसके अलावा बिहार के मुजफ्फरनगर के बाबा गरीबनाथ मंदिर, मोतिहारी के सोमेश्वर मंदिर, रोहतास के गुप्तधाम मंदिर, सोनपुर के हरिहरनाथ मंदिर सहित सभी शिवालयों में भी सुबह से ही भीड़ उमड़ रही है।

(आईएएनएस)