बिहार टॉपर्स घोटाले के दोषियों को नहीं छोड़ेगी सरकार…

पटना| बिहार के चर्चित टॉपर्स घोटाले को लेकर बिहार सरकार के शिक्षा मंत्री ने साफ तौर पर इस मामले में कहा कि इस प्रकरण में दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी। इस मामले में जदयू के पूर्व विधायक और बिहार परीक्षा समिति के पूर्व अध्यक्ष लालकेश्वर प्रसाद और उनकी पत्नी ऊषा सिन्हा की जमानत के खिलाफ सरकार ऊपरी अदालत में जायेगी । इस मामले में शिक्षा मंत्री ने साफ कहा कि इस प्रकरण ने बिहार की छवि को देश में काफी धूमिल किया है।

bihar topper

उन्होंने स्पष्ट कहा, “इंटर टॉपर्स घोटाले की मास्टर माइंड उषा सिन्हा को जमानत दिए जाने के खिलाफ बिहार सरकार ऊपरी अदालत में अपील करेगी। यह कानूनी प्रक्रिया है। इसकी पूरी तैयारी की जा चुकी है।”उन्होंने आगे कहा, “इन लोगों ने बिहार की प्रतिभा और प्रतिभावान छात्रों के भविष्य पर कलंक लगाने का काम किया है, इसलिए इन्हें बख्शा नहीं जाएगा।”उल्लेखनीय है कि इस महीने में ही पटना की एक अदालत से जमानत मिलने के बाद उषा सिन्हा पटना की बेउर जेल से रिहा हुई हैं।

इस वर्ष 12वीं की परीक्षा में टॉपर्स बनाए जाने में अनियमितता बरते जाने की शिकायत के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आदेश पर इस मामले में विशेष अनुसंधान टीम (एसआईटी) का गठन किया गया था। आरोप के बाद उषा सिन्हा को पार्टी से निकाल भी दिया गया। एसआईटी ने पूर्व विधायक उषा सिन्हा एवं उनके पति लालकेश्वर प्रसाद को वाराणसी से गिरफ्तार किया था। लालकेश्वर फिलहाल जेल में ही हैं।