बिहार: सीएम नीतीश ने की विकास यात्रा की शुरुआत, किया सरकार के काम का बखान

पटना। जेडियू अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार में आज से विकास यात्रा की शुरुआत की है, जिसके तहत वो राज्य में खुद विकास कार्य की समीक्षा कर रहे हैं। इसी तर्ज पर उन्होंने पश्चिमी चंपारण में विकास कार्य की समीक्षा करने के बाद कहा कि आज से 40 दिन बाद 21 जनवरी को दहेज और बाल विवाह प्रथा के खिलाफ बनने वाली मानव श्रृंखला में फिर विश्व रिकोर्ड टूटेगा। उन्होंने कहा कि सरकार के साथ समाज की जागरुकता से ही सूबे में नया परिवर्तन आएगा। उन्होंने राज्य में पांच नए जिलों में नर्सिंग कॉलेज के साथ मेडिकल कॉलेज खोलने की भी घोषणा की और कहा कि सभी जिलों में महिला आईटीआई, पालीटेक्निक कॉलेज, इंजिनियंरिंग कॉलेज खोल जाएंगे।

इसी के साथ प्रत्येक अनुमंडल में आईटीआई भी खोले जाएंगे ताकि नई पीढ़ी को सही दिशा मिल सके। उन्होंने कहा कि राज्य में युवाओं के लिए कौशल विकास योजना चलाई जा रही है, जिसके जरिए हुनर और मैनर का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। नीतीश कुमार ने कहा कि अगले साल से राज्य में ऐसा एक भी घर बिजली विहीन नहीं होगा। बड़े शहरों की चकाचौंध की तरह बिहार भी चमकता हुआ नजर आएग।

बिहार के मुख्यमंत्री ने  सात निश्चय योजना के तहत हर गली पक्की,सड़क पक्की,नाली पक्की, हर घर नल का पानी और हर घर शौचालय काम का निर्माण कराया जा रहा है।  इसकी समीक्षा भी खुद कर रहे हैं। इस मौके पर वाल्मीकिनगर सांसद सतीशचंद्र दुबे, लौरिया विधायक विनय बिहारी, नरकटियागंज विधायक विनय वर्मा, पूर्व विधायक प्रदीप सिंह, राज्य के मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह व डीजीपी पीके ठाकुर समेत कई लोग मौजूद रहे। स्वागत भाषण जिलाधिकारी निलेश रामचंद्र देवरे ने किया। मंच संचालन राज्य साधनसेवी मेरी एडविन ने किया।