गौ हत्या को लेकर मचा बड़ा बवाल, देश में हुआ हंगामा

नई दिल्ली। साल 2017 में गौ हत्या के नाम पर बहुत बवाल मचा। एक तरफ जहां हिंदुओं में गाय का मां माना जाता है।हिंदू धर्म में गाय का महत्व इसलिए नहीं है क्योंकि भारत प्राचीन काल से एक कृषि प्रधान देश रहा है और अब भी है। गाय को अर्थव्यस्था की रीढ़ माना जाता था। भारत जैसे और भी कई देश है, जो कृषि प्रधान रहे हैं लेकिन वहां गाय को इतना महत्व नहीं मिला जितना कि भारत में दिया जाता है।

दरअसल हिन्दू धर्म में गाय के महत्व के कुछ आध्यात्मिक, धार्मिक और चिकित्सीय कारण है, यहां तक कि गाय एक मात्र ऐसा पशु है जिसका सब कुछ सभी लोगों की सेवा में काम आता है। यही बहज है कि गाय को यहां अत्यधिक महत्व दिया जाता है। वहीं गौ मांस की बात पर पूरे देश में बवाल मच गया।

 

पशु हत्या के खिलाफ सख्त कानून का विरोध करते हुए केरल में कुछ लोगों ने बीफ पार्टी का आयोज किया, तो वही राज्य के सीएम ने भी केंद्र सरकार के इस कानून पर पत्र लिख कर आपत्ती जताई है। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ भी इस बवाल में कूद पड़े, इस मसले पर योगी ने कहा कि सेकुलर कहलाने वाले संगठन अब क्यों चुप हैं?

ये सब शुरू हुआ महाराष्ट्र के मीरा भयंदर नगर पालिका द्वारा मीट की बिक्री पर बैन लगाने से। इस बात पर इतनी जबरदस्त राजनीति खेली गई कि एक समय का ये सबसे ज्वलंत मुद्दा बन गया। जयपुर में एक गाय की मौत की वजह से गजब का बवाल मच गया। गाय की मौत के बाद नगर निगम की गाड़ी में तोड़फोड़ कर दी गई। हंगामा हुआ और रास्ता जाम कर दिया गया। पुलिस को स्थिति पर काबू पाने में खासी मशक्कत करनी पड़ी।

गौ हत्या और बीफ खाने को लेकर नेताओं के बयान आने लगे।जीत जोगी ने गौ हत्या पर मचे सियासी बवाल के बीच गम्भीर आरोप इस दावे के साथ लगाये हैं कि गौ हत्या के पीछे एक बड़ा व्यापार किया जा रहा है। अजीत जोगी ने अपनी पार्टी की ओर से किये जांच के बाद ये दावा किया कि एक हजार गायों की हत्या की गई है। हत्या करने बाद शव गौशाला में ही दफनाएं गए हैं। गौ शाला के पीछे बीजेपी के नेता चमड़े और हड्डियों का कारोबार कर रहे हैं।

एक तरफ जहां कुछ नेता बीजेपी पर आरोप लगा रहे थे वहीं गुजरात में कानून बनाया गई कि गौ हत्या हुई तो उम्र कैद की सजा मिलेगी। साथ ही पांच लाख रुपए जुर्माने भी देना होगा।

गौहत्या करते पकड़े जाने वाले शख्स के खिलाफ गैर जमानती वॉरन्ट जारी होगा। 10 साल से लेकर उम्रकैद की सजा हो सकती है व पांच लाख तक का जुर्माना लगेगा। गोवंश या गौ मांस की हेराफेरी में इस्तेमाल किया गया वाहन सरकार के पास जमा हो जाएगा।

पशुओं की खरीद-फरोख्त से जुड़े केंद्र सरकार के नियम के खिलाफ केरल में बवाल मचा वामपंथी छात्र संगठन एसएफआई ने कल केरल की राजधानी तिरुवनंतपुरम में विश्वविद्यालयों और कालेजों के सामने बीफ पकाकर खाया। केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने नए नियम के खिलाफ पीएम मोदी को चिट्ठी लिखी।

बीफ बैन पर उठे हंगामे के बीच बॉलीवुड भी लपेटे में आ गया। बॉलीवुड अभिनेत्री काजोल सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट करने के कारण विवादों में आ गई हैं। दरअसल काजोल अपने दोस्त के घर लंच के लिए गई थी लेकिन लंच में वह बीफ खाने का बात कर रही है जिसपर विवाद हो गया है।