भोपाल गैंगरेप: आखिर कैसे बीते थे वो 4 घंटे, बयान में झलका पीड़िता का दर्द

नई दिल्ली। कोमल है कमजोर नहीं शक्ति का नाम ही नारी है जग को जीवन देने वाली मौत भी तुझसे हारी है जी हां भोपाल में 4 घंटे तक दरिंदों से जूझने के बाद अपनी आप बीती जब पीड़िता ने बयान के रूप में दर्ज कराई तो एक तरफ उसकी बातों ने झकझोर दिया तो दूसरी तरफ इंसानियत को हिलाकर रख दिया। हम सब उस पीड़िता बेटी के साहस और धैर्य को सलाम करते हैं। जिसने 4 घंटों तक नर्क से बत्तर पीड़ा सही अपने आप को सम्भाला खुद चलकर पुलिस स्टेशन आई अपनी आपबीती सुनाई दरिंदों को नाम हुलिया सब कुछ बताया सिस्टम की मार भी झेली लेकिन हिम्मत कर आरोपी को खुद दबोचा और फिर सरकार से लेकर प्रशासन तक को हिलाकर रख दिया।

ये बात है बीते 31 अक्टूबर की शाम की जब पूरा प्रदेश स्थापना दिवस की मस्ती में सराबोर था। लेकिन प्रदेश की राजधानी भोपाल के हबीबगंज स्टेशन के पास 4 दरिंदो ने एक 19 साल की यूपीएससी की तैयारी कर रही छात्रा को अपनी हवस का शिकार ही नहीं बनाया बल्कि उसके साथ जमकर बदसलूकी की और लूटपाट कर छोड़ दिया। आज ये बेटी नारी शक्ति के लिए एक बड़ी मिशाल बनी हुई है। लेकिन इसकी आपबीती के बाद सिस्टम की लापरवाही ने इंसानियत को हिलाकर रख दिया है।

जब छात्रा ने अपना लिखित बयान पुलिस में दर्ज कराया तो सुनने और लिखने वालों के रोंगटे खड़े हो गए। पीड़िता के मुताबिक वह भोपाल में यूपीएससी की कोचिंग करती है। उसके माता औऱ पिता भी पुलिस विभाग में कार्यरत हैं, 31 अक्टूबर की शाम को वह एमपी नगर से रेल लाइन से हबीबगंज स्टेशन की ओर जा रही थी। तभी एक लड़का जो कि पटरियों के बीच में आता है। इसके बाद वह उसका हाथ पकड़ लेता है, वह उसकी पकड़ से छूटने के लिए उसे एख लात भी मारती है, लेकिन वह उसके साथ पटरी पर गिर जाती है। लड़का उसके साथ पहले पटरी पर ही जबरदस्ती करने लगता है। उस लड़के के हुलिए के बारे में पीड़िता ने कहा कि वह छोटे कद का थी उसकी छोटी दाढ़ी थी । वह अपने दोस्त को आवाजद देकर बुलाता है, वह अपने दोस्त को गोलू बिहारी के नाम से बुलाता है बुलाने पर उसका दोस्त दौडकर वहां आता है। उसका कद लंबा था वह दोनों उसे पकड़कर नीचे नाले में लेकर जाते हैं जहां पर दोनों उसे गिरा देते हैं। इसके बाद वहां से पीड़िता का कहना था कि वह मुझे पुलिया के अंदर लेकर गए। जहां पर पीड़िता ने अपना बचाव करने के लिए पत्थर से भी मारने की कोशिश की लेकिन लम्बे कद वाले लड़के ने पीडिता के मार जमकर मार पीट कर उसे काबू में कर लिया। जिसके बाद आरोपियों ने उसके हाथ पैर बांध दिए। दोनों ने बारी बारी से उसके साथ बुरा काम किया।

इसके बाद एक लड़का उसे पकड़ कर बैठा रहा तो दूसरा उसके कपड़े लाने के लिए चला गया। 10 से 15 मिनट बाद लड़का वहा आया तो उसने पीड़िता को कपड़े पहनने को दिए। वहां से आरोपी उसे पकड़ कर पुलिया के दूसरी ओर लेकर गए जहां पर आरोपियों ने दो व्यक्तियों को बुला रखा था। उन दोनों ने पीड़िता के साथ वहां पर ही गंदा काम किया। इसके बाद वो करीब 2 से 3 घंटे तक पीड़िता को वहीं रोककर रखे हुए थे। इसके बाद फिर पहले वाले दोनों आरोपियों ने पीड़िता के साथ फिर गंदा काम किया। इसके बाद आऱोपियों ने उसके कान की बाली औऱ मोबाइल फोन के साथ उसकी घड़ी छीन ली। उन लोगों ने उसे बेसुध कर दिया था, उसे मार जान कर आरोपी वहां से भाग गए। अपने आप को किसी तरह संभालने के बाद पीड़िता हबीबगंज स्थित जीआरपी थाने पर आई जहां से फोन कर घटना की जानकारी उसने अपने पिता को दी।