भोले बाबा की पूजा करते थे, पुलिस ने 7 चोर किए गिरफ़्तार

मेरठ। देश के सबसे बडे सूबे उत्तर प्रदेश में प्रशासन व प्रदेश की सरकार अपराध मुक्त प्रदेश बनाने में जी तोड मेहनत कर रही है, जिले की पुलिस रोजाना जगहा-जगहा कभी छापेमारी करके अपराधीयों को गिरफ्तार करती है व कभी चेकिंग अभीयान चलाकर बदमाशों को गिरफ्तार करती है लेकिन सूबे में अपराध रूकने का नाम नही ले रहा है। मेरठ जिले की पुलिस ने आज कुछ ऐसे अद्भुत व नियम कानुनों के साथ चलने वाले चोरों को गिरफ्तार किया है। जिससे पुलिस महकमा भी अचम्भे में पडा हुआ है।

Bhole Baba, worship, police, arrested, 7 thieves, police, crime,
police arrested 7 thieves

जीहां आपको बता दें कि आज मेरठ जिले की पुलिस ने एक ऐसी चोंकादेने वाली सफलता प्राप्त की है, जिससे पुलिस महकमा भी अचम्भे में पडा हुआ है। पुलिस ने ऐसे चोरों को कब्जे में लिया है जो चोरी करने से पहले भोले बाबा की पूजा किया करते थे, और चोरी भी सिर्फ सोमवार के दिन ही करते थे, ये शातिर केवल उन घरों को निशाना बनाया करते थे जिनके मालिक घर में ताला लगाकर कही गए हुए होते थे। पल्ल्वपुरम पुलिस ने इनके पास से चोरी के एलईडी व् भारी मात्रा में चोरी का सामान बरामद किया है।

पुलिस की गिरफ्त में खड़े ये 7 लोग, ये वो शातिर चोर हैं जो क्षेत्र में बंद घर को निशाना बनाकर चोरी कर लिया करते थे, ये लोग घर के सामान को चोरी करके दिल्ली के किसी डीलर को बेचा करते थे डीलर चोरी के सामान को सस्ता खरीदकर इनको पैसे दे दिया करता था। पुलिस की माने तो भूपेंद्र, अंकित, अनुज, आशीष, आकाश, राजू व निखिल ये सातों वही शातिर चोर हैं जो भोले बाबा के भगत है, और ये लोग चोरी करने से पहले बाबा की पूजा किया करते थे कि बाबा इनको चोरी के दौरान पकड़वाएं नहीं चोरी का दिन भी सोमवार चुना करते थे क्योंकि सोमवार का दिन इन चोरों के लिए शुभ होता था और उसके बाद ये चोरी किया करते थे, ऐसा काफी दिनों तक चलता रहा ये और वह पकड़े नहीं गए, लेकिन आज भोले बाबा का भी सब्र टूट गया और पुलिस ने आज इनको धर दबोचा। पुलिस ने इनकी निशान देही से चोरी की एलईडी, लेपटॉप, कम्प्यूटर, इंडेक्शन चूल्हे, मोबाईल, चांदी के आभूषण, घड़ी, जूते व आदि सामान बरामद किया है, इनको जो घर में मिलाता था, उसको समेट कर निकल जाया करते थे, ये गैंग काफी शातिर हो चूका था, और क्षेत्र के लोगों के लिए मुसीबत बन चूका था, इनका सरगना व मास्टर माइंड सनी निवासी हस्तिनापुर है, जो कि अभी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है, पुलिस ने बाकी सबको जेल भेज दिया है, और इनके सरगना सन्नी को गिरफ्तार करने की कोशिश में लगी हुई है।