भीम आर्मी ने रची थी साजिश : सहारनपुर

सहारनपुर में जातीय हिंसा की कहानी लिखने वाला भीम आर्मी का अध्यक्ष चंद्रशेखर आजाद है। उसने जातीय हिंसा भड़काने का काम पहले से ही शुरु कर दिया था,पूरी साजिश की शुरुआत होशियारपुर से शुरु की गयी थी। सहारनपुर हिंसा में हुई हिंसा की पूरी रिपोर्ट गृह मंत्रालय दो दे सुपुर्द कर दी गई है। जांच में पता चला है की भीम आर्मी के अध्यक्ष चंद्रशेखर ने इस हिंसक घटना को प्लान कर हुआ था।

पूरी जांच के बाद बताया गया की पूरे ही देश में सरकार को हटाने के लिए इस प्रकार के दलों और संगठनों का साथ लेकर किया जा रहा है। घटना को तूल देने के लिए सोशल मीडिया का भी साथ लिया गया था। पूरी घटना के दौरान कुछ अफसरों की भी लापरवाही सामने आई है। पूरी रिपोर्ट के अनुसार पता चला है की इस पूरी घटना को भड़काने का काम दो नेताओं ने भी किया था। हिंसा भड़काने के पीछे 30 से ज्यादा लोगों का हाथ बातया जा रहा है।

रिपोर्ट से पता चला है की अफसरों के बीच किसी भी तरह का तालमेल ना होने के कारण हिंसा को बढ़ने से रोका नहीं जा सका और फिर हिंसा ने बहुत बड़ा रुख ले लिया था, साथ ही कुछ अफसरों की लापरवाही भी सामने आई है। पूरी हिंसा को बहुत अच्छी तरह से प्लान किया गाय था,महापुरुष की मूर्ति माल्यार्पण करने के वक्त ही लोगों में हिंसा को भड़काना था,लोगों में हिंसा को भड़काने का पूरा काम भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद उर्फ रावण ने किया था,साथ ही भीम आर्मी को राजनीतिक पार्टियों का समर्थन भी मिला था।

महाराणा प्रताप के जन्म दिवस पर मूर्ति माल्यार्पण के दौरान भी जातीय हिंसा हुई थी,और पूरी हिंसा में दो लोगों की मौत हुई थी। इस पूरी हिंसा के बाद पूरा सहारनपुर झुलस रहा था। हिंसा की गाज जिलाधिकारी समेत एसएसपी पर गिरी जिसेक बाद इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया था।