IQ का असर पड़ता है आपके सपनों पर, जानिए कैसे…

नई दिल्ली। आजकल की भागम -भाग भरी लाइफ में अपने लिए समय ही नहीं बचता। ऐसे में किसी को बिस्तर पर जाते ही नींद आ जाती है तो कोई काफी मशक्कत करने के बाद ही नींद लाने में कामयाब होते हैं। हर कोई सपने देखता हैं कोई दिन में सपने देखता है तो कोई रात में सपने देखता हैं। आज आपको सपनों के बारे में कुछ ऐसी बातें बताएंगे जिसे जानकर आप हैरान रह जाएंगे और शायद आपकी नींद ही उड़ जाए-

– आपको कितने भी सपने क्यों न आएं, कभी भी आपको ये याद नहीं रहेगा कि सपना कहां से शुरू हुआ था।

– आपको शायद ही इस बात के बारे में पता हो कि आपके आई क्यू के ऊपर आपके सपनों का आना निर्भर करता है। जिस व्यक्ति का  IQ जितना ज्यादा होगा, उसे उतने ही ज्यादा सपने आएगा।

– बच्चों को 3-4 साल तक सपने नहीं आते। सपने एक समय के बाद आना शुरू होते हैं।

– ऐसे जो लोग बचपन से ही देख-सुन नहीं पाते, उन्हें भी सपने आते हैं। वो अपने आस-पास की खुशबू से सपनों के ताने-बाने बुनते हैं।

– सपना देखते समय हमें हमेशा ये महसूस होता है कि वो रियल लाइफ में हो रहा है, यही वजह है कि कई लोग सपने देखते समय रोते, हंसते और अलग-अलग तरह की प्रतिक्रिया दिखाते हैं।

– हम कई बार सोचते है कि हमारा दिमाग थक गया है लेकिन बहुत कम लोगों को पता है कि हमारा दिमाग कभी थकता नहीं है हमारे शरीर की थकावट का मस्तिष्क पर नहीं पड़ता बल्कि वो और भी तेजी से काम करता है।

– जिन लोगों को कभी सपने नहीं आते, उन्हें पर्सनैलिटी डिसऑर्डर नाम की बीमारी होती है।

– एक जांच में पता चला है कि एक आदमी अपनी जिंदगी के लगभग 6 साल सपने देखने में बिताता है।