इस दिव्यांग की प्रतिभा सही मायने में है ”काबिल”

नई दिल्ली। कहते हैं टैलेंट किसी का मोहताज नहीं होता, ईश्वर ने हर किसी को कुछ अलग शक्ल-सूरत के साथ-साथ अलग अलग प्रतिभ से भी नवाजा है। जी हां इस वीडियो को देखने के बाद आप भी शायद यही कहेंगे। देखिए कैसे ये आदमी जिसकी आंखे नहीं हैं में इतनी प्रतिभा है जितनी किसी प्रोफेशनल सिंगर में होती है।

एक डिब्बे और स्टिक के माध्यम से ये ऐसे गाना गा रहा है जैसे कि इसने काफी समय तक ट्रेनिंग ली हो। अगर इस तरह की प्रतिभा को अवसर मिले तो आगे बढ़ने से इन्हें कोई रोक नहीं सकता। इस तरह की प्रतिभा ही सही मायनों में काबिल कहलाती है।