भ्रष्टाचार के मामले में पार्क से जेल में होगी पूछताछ

सियोल। भ्रष्टाचार के मामले में गिरफ्तार की गई दक्षिण कोरिया की अपदस्थ राष्ट्रपति पार्क ग्युन-हे से पुलिस जेल में पूछताछ करेगी। बता दें कि उन पर अपने पद का गलत तरीके से फायदा उठाने का आरोप है। अटॉर्नी जनरल कार्यालय के एक प्रवक्ता ने यह भी कहा कि उन्हें सियोल सेंटर जाने से बचाने के लिए ही जेल में उनसे पूछताछ की जाएगी।

अटॉर्नी जनरल कार्यालय ने उनके खिलाफ सुनवाई के लिए आरोप तय करने हेतु 19 अप्रैल की डेट तय की है, लेकिन कार्यालय जल्द से जल्द इस प्रक्रिया को समाप्त करके 15 अप्रैल के पहले ही पूरी जांच खत्म कर लेना चाहता है। ताकि राष्ट्रपति चुनाव के लिए 17 अप्रैल से शुरू होने वाले एक आधिकारिक अभियान में किसी तरह का टकराव और विरोध न पैदा हो। बता दें कि सियोल मध्य जिले की एक अदालत ने शुक्रवार को अभियोजक कार्यालय के पक्ष में फैसला सुनाते हुए पार्क को जेल भेज दिया था।

सूत्रों के हवाले से मिली खबर के अनुसार अभियोजकों का मानना है कि उनके पास इस बात के पुख्ता सबूत हैं कि पार्क ने अपनी मित्र चोई सून-सिल के साथ मिलकर व्यापारियों से रिश्वत लेने का एक जाल तैयार करने की साजिश रची थी। न्यायाधीश और जांचकर्ताओं का ये भी मानना है कि पार्क पूरी कोशिश करेंगी कि सबूत को मिटा दिया जाए। पार्क पर कुल 13 आरोप लगाए गए हैं जिसमें सत्ता का दुरुपयोग, सरकारी गोपनीयता का खुलासा करना और रिश्वत के मामले शामिल हैं। जिसमें दक्षिण कोरियाई कानून के अनुसार, रिश्वत के मामले में न्यूनतम 10 साल कैद और अधिकतम आजीवन कारावास की सजा हो सकती है।