इशरत मामले से जुड़े गायब दस्तावेजों की जांच शुरू

नई दिल्ली। हाल में गृह मंत्रालय के अधिकारियों द्वारा एक प्राथमिकी दर्ज कराए जाने के बाद दिल्ली पुलिस ने रविवार को इशरत जहां मुठभेड़ मामले से जुड़े गायब दस्तावेजों की जांच शुरू कर दी। बताया जाता है कि नॉर्थ ब्लॉक स्थित केंद्रीय गृह मंत्रालय के कार्यालय से दस्तावेज गायब हैं। पुलिस उपायुक्त जतिन नरवाल ने आईएएनएस से कहा, “इशरत जहां मामले से संबंधित गायब दस्तावेजों को लेकर हमने एक प्राथमिकी दर्ज की है और आगे की कार्रवाई की योजना बना रहे हैं।”

Ishrat Jahan

पुलिस के अनुसार, गत मार्च महीने में गृह मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव के नेतृत्व में एक जांच समिति ने इशरत जहां से जुड़ी संचिकाओं की विस्तृत जांच की और यह पाया गया कि दो हलफनामों समेत करीब पांच दस्तावेज गायब थे। हालांकि नरवाल ने कहा कि कागजात संचिका से कैसे गायब हुए या जानबूझकर हटाए गए, यह तय करना अभी जल्दबाजी होगी। उन्होंने कहा, “इस स्तर पर कुछ नहीं कहा जा सकता है। हम मामले की जांच कर रहे हैं।”

इस संबंध में भारत सरकार के अवर सचिव वी.के. उपाध्याय द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत के आधार पर पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 409 के तहत एक मामला दर्ज किया है। साल 2004 में गुजरात में अहमदाबाद के निकट एक कथित फर्जी मुठभेड़ में इशरत जहां और तीन अन्य लोगों को मार गिराया गया था।