सनस्क्रीम कर सकता है आपको बीमार!

नई दिल्ली। गर्मियों में सनवर्न से बचने के लिए कई सारे इंतजाम करते हैं। इसकी शुरूआत होती है सूरज की हानिकारक किरणों से अपने शरीर को बचाने वाले सनस्क्रीम लोशन से। सनस्क्रीन लोशन आपकी त्वचा को शायद टैनिंग से बचा रहा हो लेकिन ये आपकी सेहत के लिए हानिकारक है। जी हां सनस्क्रीम आपको बहुत ज्यादा बीमार कर सकता है।

बाजार में कई नामचीन कंपनियों के सनस्क्रीम बाजार में उपलब्ध है मगर वो हर एक हर किसी के लिए नहीं है। अगर आप सनस्क्रीन लेते वक्त कुछ चीजों का ध्यान नहीं रखेंगी तो आपके चेहरे की सुंदरता खत्म हो जाएगी। इसलिए आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताने जा रहे हैं जिससे आप इस बात का पता लगा पाएंगी की आपकी सनस्क्रीम परफेक्ट है या नहीं….

जानिए स्कीन का टाइप

कोई भी क्रीम इस्तेमाल करने से पहले आपको ये जानना जरूरी है कि आपकी स्किन टाइर क्या है, क्योंकि आपकी स्क्रिन टाइप ही बताएगा कि आखिरकार आपको किस तरह की सनस्क्रीम लेनी चाहिए। आपको ये जानना भी जरूरी है कि सनबर्न, यूवीए और यूवीबी के हार्मफुल इफेक्ट्स लंबे समय तक आपकी स्किन को डैमेज कर सकते हैं। सनस्क्रीन पर हुए तीन ट्रायल्स ये बताते हैं कि कई बार सन एक्‍सपोजर इतना ज्यादा होता है कि सनस्क्रीम क्रीम से टैनिंग तो कम नहीं होती लेकिन सनबर्न इससे बहुत ज्यादा हो जाता है।

स्कीन के लिए जरूरी है ये

SPF हमेशा स्किन के हिसाब से चूज करना चाहिए। साथ ही ये भी माइंड में रखना चाहिए कि आप कितनी देर के लिए सन एक्सपोजर में रहने वाले हैं। SPF2-50% SPF4-75%, SPF10-90%, SPF15-93%, SPF30-97%, SPF50-98%, SPF70-98.5%, SPF100-99% तक यूवीबी रेज को ब्लॉक करता है।