वृंदावन में मनाई गई अक्षय तृतीया, श्रद्धालुओं ने कान्हा को पहनाई पायल

वृंदावन। कान्हा की नगरी वृंदावन में विश्व प्रसिद्ध बांके बिहारी मंदिर सहित सभी मंदिरों में शनिवार (29-04-17) को अक्षय तृतीया का महोत्सव धूमधाम से मनाया जा रहा है। हर त्यौहार पर कुछ अलग करने के लिए मशहूर कान्हा की नगरी में अक्षय तृतीया का दिन भी खास तरीके से मनाया जाता है।

एक तरफ अक्षय तृतीया के दिन पूरे भारत में लोग सोना खरीदने को शुभ मानते हैं तो दूसरी तरफ वृंदावन में कान्हा यानि की भगवान कृष्ण को पायल पहनाना शुभ माना जाता है। वृंदावन के बांके बिहारी मंदिर सिर्फ इसी दिन लोगों को कान्हा के चरणों के दर्शन होते हैं। अक्षय तृतीया से एक दिन पहले भगवान कृष्ण के सर्वांग विग्रह पर चंदन का लेप किया जाता है।

श्रद्धालुओं ने की पूजा

अक्षय तृतीया के कृष्ण के पैरों के दर्शन के लिए बांके बिहारी मंदिर में श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। सैकड़ों श्रद्धालुओं ने बांके बिहारी को पायल पहनाकर पूजा की।

खास है अक्षय तृतीया

भारतीय संस्कृति में इसका बड़ा महत्व है। माना जाता है कि अक्षय तृतीया के दिन ही पीतांबरा, नर-नारायण, हयग्रीव और परशुराम के अवतार हुए हैं, इसीलिए इस दिन इनकी जयंती मनाई जाती है।