बैंक कर्मचारी ने फांसी लगाकर दी जान

जोधपुर। झालामंड के निकटवर्ती नवदुर्गा कॉलोनी में रहने वाले एक बैंक कर्मचारी ने सोमवार को अपने घर में फांसी लगाकर जान दे दी। उसके घर दो दिन पहले बेटी का जन्म हुआ था। वह दस दिन पहले ही छुट्टी पर घर आया था। आत्महत्या की वजह सामने नहीं आई है। कुड़ी पुलिस ने मंगलवार सुबह कार्रवाई के बाद शव परिजन को सौंपा।

कुड़ी पुलिस ने बताया कि नवदुर्गा कॉलोनी निवासी 33 वर्षीय वीरेंद्र कुमार एसबीबीजे भीलवाड़ा में नौकरी करता था। 10 फरवरी को वह छुट्टियों पर घर आया था। उसकी पत्नी ने दो दिन पहले ही बेटी को जन्म दिया था। ऐसे में पत्नी पीहर मेड़ता में है।

सोमवार दिन में उसका भाई तरुण एक स्कूल में पढ़ाने के बाद दोपहर में घर लौटा था। तब कमरे में वीरेंद्र की खिड़की का पर्दा लगा दिखाई दिया। इस पर वह कमरे की तरफ गया, मगर कमरा भीतर से बंद था। टीवी देख रहे पिता मंगलसिंह बलाई व पुत्र तरुण ने दरवाजा तोड़ा तब वीरेंद्र पंखे में हुक में साड़ी से फंदे पर लटका मिला।

उसे नीचे उतार कर एमजीएच लाया गया। जहां पर डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। आत्महत्या की वजह सामने नहीं आई है। मगर बताया जा रहा है कि संभवत: वह बैंक के राजस्थान से बाहर शिफ्टिंग की बात को लेकर संशय में था अथवा बेटी जन्म को लेकर चितिंत। इस बारे में फिलहाल खुलासा नहीं हो पाया है।