बजरंग दल का सर्जिकल स्ट्राईक प्रशिक्षण

उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में बजरंग दल ने लगाया विवादित आत्मरक्षा शिविर लगाया है। यह शिविर विवादित इसलिए है क्योंकि शिविर लगाने से पहले प्रशासन से अनुमति नहीं ली गई है। इस शिविर में आतंकवादियों से लड़ने का प्रशिक्षण दिया गया और गैर समुदाय से भी लड़ने की तैयारियों का प्रदर्शन किया गया। यह शिवर हरदोई के रद्देपुरवा रोड पर कुन्दौली गांव स्थित नरायण इंटर कालेज में लगाया गया। 7 दिन तक चले इस शिविर में मीडिया को भी कवरेज करने की नहीं दी थी इजाज़त।

 

तस्वीरो में साफ़ देख सकते है किस तरह गैर समुदाय से लड़ने की  लाठी डंडों बन्दूक और रायफल चलाने की ट्रेनिंग दी गई। 24 मई से 31  मई तक चले इस प्रशिक्षण में प्रशासन से किसी भी तरह की अनुमति नहीं ली गयी थी।विश्व हिन्दू परिषद् के युवा संगठन ने इस कार्यक्रम को आयोजित किया था। अवध प्रान्त के इस कार्यक्रम में 14 जिलों के सैकड़ों युवाओ ने हिस्सा लिया था।

बजरंगदल के  सर्जिकल स्ट्राइक की तस्वीरें सामने आयी है जहां बजरंग दाल के कार्यकर्ताओ ने ट्रेंनिग कैम्प में पाकिस्तान के छक्के छुड़ाने की ट्रेंनिंग ली लेकिन ये ट्रेनिंग कैम्प सरकार पर सवाल खड़े करता है । तस्वीरें सामने आने के बाद प्रशासन के हाथ पांव फूल चुके है और वह कैमरे के सामने बोलने को तैयार नहीं है।