6 किलोमीटर लंबे काफिले के साथ आयेंद्र शर्मा ने किया नामांकन

देहरादून। उत्तराखंड में चुनावी बिगुल बज चुका है और सभी सीटों पर प्रत्याशियों की सूची भी जारी हो चुकी है। इसी बीच उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2017 में सहसपुर विधानसभा सीट पर कांग्रेस का टिकट नहीं मिलने से पार्टी छोड़ चुके आयेंद्र शर्मा ने आज 6 किलोमीटर लंबे काफिले के साथ नामांकन कर दिया है। काफिले को देखते ही कांग्रेस के हौसले पस्त हो गए। आर्येंद के नामांकन के दैरान हजारों की संख्या में पहुंचे लोगों को देखकर उनकी प्रसिद्धि का अंदाजा लगाया जा सकता है। साथ ही विरोधियों के लिए ये जनसैलाब एक चेतावनी भी मानी जा सकती है।

आयेंद्र ने अपने समर्थकों के साथ निर्दलीय से आज नामांकन भरा। वहीं भारत खबर ने जब इस उमड़े जनसैलाब के बारे में आर्येंद शर्मा से बात की तो उन्होंने बताया कि सूबे के इतिहास में पहली बार किसी के नामांकन में इतनी संख्या में समर्थक पहुंचे हैं। वहीं उन्होंने कहा कि सहसपुर विधानसभा की सीट को लेकर कांग्रेस पार्टी को एक बार फिर से विचार करना चाहिए क्योंकि इतनी संख्या में समर्थकों का पहुंचना ये साफ दिखाता है कि हवा का रुख किस ओर है।

गौरतलब है कि इससे पहले कांग्रेस के किशोर उपाध्याय नामांकन दायर करने पहुंचे थे जिनके साथ काफिले में महज 300 लोग थे।


दरअसल कांग्रेस द्वारा जारी की गई प्रत्याशियों की सूची में किशोर उपाध्याय को उस विधानसभा सीट से टिकट मिला है, जहां से आयेंद्र को टिकट मिलने की संभावना थी। आयेंद्र को टिकट ना मिलने से नाराज उनके समर्थक लगातार सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे थे। कई लोगों ने तो कांग्रेस कार्यालय पहुंचकर मुख्यमंत्री हरीश रावत और किशोर उपाध्याय के पोस्टर भी फाड़े थे।

गत 25 जनवरी को आयेंद्र ने कांग्रेस से अपने सभी पदों से इस्तीफा दे दिया था। आयेंद्र द्वारा कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद इस बात की अटकलें तेज हो गई थी कि वो निर्दलीय से चुनाव लड़ सकते हैं।

ये भी पढ़ेंः पहाड़ों में कांग्रेस को लगा झटका, आयेंद्र शर्मा ने दिया इस्तीफा

ये भी पढ़ेंः प्रत्याशियों की सूची जारी होते ही दो भागों में बटी कांग्रेस!