नगर निगम चुनाव खत्म होने के बाद बीजेपी में शामिल संजय परमार पर हमला

शिमला। हाल ही में सम्पन्न हुए शिमला नगर निगम चुनावों के बाद भाजपा में शामिल निर्दलीय पार्षद संजय परमार पर सोमवार रात जानलेवा हमला हुआ। यह हमला उस वक्त हुआ जब संजय परमार चण्डीगढ़ से वापस शिमला आ रहे थे। गौरतलब हो कि संजय ने कांग्रेस से बागी होकर चुनाव लड़ा था और बाद में वे भाजपा में शामिल हो गए थे। जबकि पहले वो निगम में कांग्रेस के मनोनीत पार्षद थे।

साथ ही पुलिस ने इस संदर्भ में मारपीट का मामला दर्ज कर लिया है। जबकि शिमला भाजपा ने इस पर अपनी आपत्ति जताते हुए कहा है कि यह मारपीट का मामला नहीं है। संजय परमार पर जानलेवा हमला हुआ है। इसलिए आईपीसी की धारा-307 के तहत मामला दर्ज किया जाए। भाजपा मंगलवार को जिलाधीश से इस मामले की शिकायत दर्ज करेगी।

बता दें कि बीते सोमवार रात शिमला के बाहरी क्षेत्र शिमला-कालका हाईवे पर शोघी के पास कुछ लोगों ने इनकी गाड़ी को रोका और बाहर खींच लिया। गाड़ी से बाहर निकालने के बाद लोगों ने पार्षद की पिटाई कर दी। वारदात को अंजाम देने के बाद अज्ञात लोग मौके से फरार हो गए। मारपीट में संजय को गंभीर चोटें लगी हैं। वारदात के बाद पार्षद बालूगंज थाना पहुंचे और मामले की एफआईआर दर्ज करवाई। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस समर्थित कुछ लोगों ने उन पर हमला किया है।

उसके बाद चार लोग कार से उतरे उनको कार से बाहर खींच लिया। उनके साथ मारपीट शुरू कर दी। बीच बचाव में उनके नाक पर गहरी चोट लगी है। अज्ञात लोग मारपीट करने के बाद वहां से फरार हो गए। उन्होंने आरोप लगाया कि ये सभी हमलावर कांग्रेस समर्थित थे।