प्लेऑफ की जंग निर्णायक मोड़ पर, KKR और KIXP आमने सामने

नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग में मंगलवार को कोलकाता नाइट राइडर्स और किंग्स इलेवन पंजाब का मैच है। प्लेऑफ में पहुंचने के मकसद से पंजाब के लिए यह मैच जीतना बेहद जरूरी है। वैसे किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ कोलकाता नाइट राइडर्स का रेकॉर्ड शानदार है। कोलकाता ने 14 मैच जीते हैं वहीं पंजाब की टीम ने सिर्फ 6 मुकाबले जीते हैं।

किंग्स इलेवन पंजाब के लिए प्लेऑफ में जगह बनाने के लिए अपने सभी मैच जीतने जरूरी हैं। अगर मंगलवार को किंग्स इलेवन कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ मैच हार जाती है तो वह न सिर्फ प्लेऑफ की दौड़ से बाहर हो जाएगी बल्कि इससे अंतिम चार टीमें भी फाइनल हो जाएंगी। यानी मुंबई इंडियंस, कोलकाता नाइट राइडर्स, सनराइजर्स हैदराबाद और राइजिंग पुणे सुपरजायंट का अंतिम चार में पहुंचना तय हो जाएगा।

अगर पंजाब की टीम अपने सभी मैच जीत जाती है तो उसके 16 अंक होंगे और सनराइजर्स हैदराबाद अगर गुजरात लायंस के खिलाफ मुकाबला हार जाती है वह 15 अंक पर रुक जाएगी। पंजाब को कोलकाता के बाद मुंबई इंडियंस और राइजिंग पुणे सुपरजायंट के खिलाफ मैच खेलने हैं।

पंजाब के लिए मुश्किल यह है कि पिछले मैच में उसके लिए सेंचुरी बनाने वाले हाशिम अमला अब टीम के साथ नहीं होंगे। अमला और डेविड मिलर अपनी राष्ट्रीय टीम (साउथ अफ्रीका) का हिस्सा बनने के लिए वापस लौट गए हैं। ऐसे में ऑलराउंडर डैरेन सैमी और तेज गेंदबाज मैट हेनरी को टीम में शामिल किया गया है।

वहीं अगर पुणे अपने अगले दोनों मैच हार जाती है और सनराइजर्स अपना आखिरी मैच जीत जाती है तो पुणे की टीम अंतिम चार की दौड़ से बाहर हो सकती है। पुणे की टीम के भी 16 अंक हैं लेकिन उसकी रनरेट -0.060 है और वहीं पंजाब की रनरेट 0.242 है। पुणे को अपने अगले दो मैच दिल्ली डेयरडेविल्स और किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ खेलने हैं।

कोलकाता नाइट राइडर्स के भी पुणे सुपरजायंट की तरह 16 ही अंक हैं लेकिन वह बेहतर रनरेट के आधार पर वह दूसरे स्थान पर है। एक और जीत के साथ ही प्लेऑफ में अपनी जगह पक्की कर लेगी।

गौरतलब है कि रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर, गुजरात लायंस और दिल्ली डेयरडेविल्स पहले ही प्लेऑफ की दौड़ से बाहर हो चुकी हैं।