करदाताओं की संख्या बढ़ने पर ही दरें घटेंगी : जेटली

मुंबई। केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने शनिवार को कहा कि देश में कर दरों में कमी तभी संभव है, जब करदाताओं की संख्या बढ़े और करचोरी में कमी आए। जेटली ने यहां एक कार्यक्रम में कहा कि अगर सभी लोग अपना-अपना कर जमा करें तो कर दरों में कमी आएगी। जबकि जितना ज्यादा कर चोरी होगी उतनी ही कर की दरें अधिक रहेंगी।

Arun Jaeitly

जेटली के मुताबिक, कम कर दरें तथा कर चोरी एक साथ नहीं चल सकते। जेटली ने इसके अलावा बैंक के कर्जदाताओं से गुजारिश की कि वे अपने ऋण को चुका दें और करों का भुगतान करें।

उन्होंने कहा कि ‘मेक इन इंडिया’ केवल एक नारा नहीं है और विनिर्माण क्षेत्र में ही बड़ी संख्या में नौकरियां होती हैं।