पनामा पेपर लीक मे पड़ोसी देश की तरह बिना जांच के किसी को नहीं दी जाएगी सजा: अरूण जेटली

नई दिल्ली। पनामा दस्तावेजों के भविष्य को लेकर पूछे गए सवालों के बदले शुक्रवार को सरकार ने कहा कि पनामा में किए गए खुलासों की जांच की जा रही है। साथ ही सरकार का ये भी कहना है कि कोई भी सही प्रक्रिया के किसी को दंडित नहीं किया जाएगा। जैसा पड़ोसी देश पाकिस्तान में हुआ वहां नवाज शरीफ को प्रधानमंत्री पद से हटा दिया गया। अरूण जेटली ने विधेयक 2017 पर बोलते हुए राज्यसभा में कहा कि यहां विदेशी बैंको के खातों पर इस सरकार ने जीतनी कार्रवाई की है। उतनी कार्रवाई किसी सरकार ने नही की। पनामा पेपर के मामले में जेटली ने कहा कि इसमें भी हर खाते की जांच की जा रही है।

arun jaitley, clarifies, punish, law procedure, Panama Paper, rajya sabha
arun jaitley

बता दें कि हमारे यहां कानून का शासन है। पड़ोसी देश की तरह ढांचा नहीं जहां पहले पद से हटा दिया जाता है फिर मामले पर सुनवाई होती है। जेटली पाक पीएम नवाज शरीफ की ओर इशारा कर बोल रहे थे। जिन्हें पनामा पेपर मामले में दोषी मान कर पीछले महीने पीएम के पद से हटा दिया गया था। शुक्रवार को राज्यसभा में सरकार ने कहा कि यहां एनपाीए के आंकड़े बढ़ रहे हैं और इसकी वजह है पूराने खातों में ब्याज का बढ़ना। जिसकी वजह से एनपीए में वृद्धि हो रही है।