पंजाब सरकार द्वारा युवा एनआरआई के लिए ‘अपनी जड़ों से जुडो’ स्कीम

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने विदेशों में बसे पंजाबी मूल के नवयुवक लड़के और लड़कियों के लिए ‘अपनी जड़ों से जुड़ो’ (सीवाईआर) कार्यक्रम शुरू करने के लिए केन्द्र सरकार से समर्थन की मांग की है। मुख्यमंत्री ने मंगलवार को एक बैठक दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ इस प्रस्तावित कार्यक्रम संबंधी विचार विमर्श किया। कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने कहा कि इस कार्यक्रम अधीन विश्व के विभिन्न हिस्सों में बसे नव युवकों उन स्थानों का दौरा करने का मौका मिलेगा, जिस से उनके परिवार के सदस्यों का संबंध है या उनके दादा दादी, नाना नानी का जन्म हुआ थार या फिर उन्होंने स्वयं अपने जीवन के प्रारभिंक वर्ष गुजारे है।

apni jado se judo, scheme for youth nri, punjab government
Caption Amrindra singh

यह प्रस्तावित योजना 16 से 22 वर्ष की आयु वाले नवयुवक लड़के-लड़कियों के लिए शुरू की जा सकेगी। उन्होंने सुझाव दिया कि यह कार्यक्रम नवयुवकों को अपनी जड़ों से जोड़ने के लिए मंच उपलब्ध कराएगा। इसके साथ उनकों अपने परिवार की पृष्ट भूमि और संस्कृति संबधी भी सीखने का अवसर मिलेगा। इससे उनकी अपने देश की जड़ों से भावनात्मक संबध भी मजबूत होंगे। उन्होंने कहा कि विभिन्न देशों में बसे भारतीय मूल के नवयुवकों में अपने पैतृक घरों संबधी जानने के लिए बहुत अधिक उत्सुकता है।

मुख्यमंत्री ने बताया कि पंजाब सरकार द्वारा पहले ही एनआरआईज या पंजाबी मूल के लोगों के लिए यह स्कीम शुरू की गई है जिस के अधीन वह राज्य के विकास और वृद्धि में शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि यह नया कार्यक्रम नवयुवकों में एनआरआई सरगर्मियों को बढ़ाएगा। जोकि राज्य के कार्यक्रम का अहम स्रोत हो सकते हैं।