एंटिगा टेस्ट : कोहली की शतकीय पारी से भारतीय टीम की पकड़ मजबूत

नॉर्थ साउंड। आक्रामक बल्लेबाज और कप्तान विराट कोहली (नाबाद143) की शतकीय तथा शिखर धवन (84) की संयम भरी अर्धशतकीय पारी की बदौलत भारत ने सर विवियन रिचर्डस स्टेडियम में गुरुवार को शुरू हुए चार मैचों की टेस्ट सीरीज के पहले मुकाबले के पहले दिन का खेल खत्म होने तक अपनी पहली पारी में चार विकेट के नुकसान पर 302 रन बना लिए हैं। इस स्कोर के साथ ही भारतीय टीम की पकड़ प्रतिद्वंद्वी टीम के खिलाफ मजबूत नजर आ रही है।

virat kholi

कोहली ने अहम क्षणों में पारी को मजबूत करने की बागडोर अपने हाथो में लेते हुए 197 गेंदों का सामना कर 16 चौके लगाए। इस मैच में उन्होंने अपने करियर का 12वां शतक जड़ा। अपनी इस पारी के दौरान कोहली ने टेस्ट करियर में 3000 रन पूरे किए। कोहली ने पारी को संवारने की दिशा में धवन के साथ तीसरे विकेट के लिए 105, अजिंक्य रहाणे (22) के साथ चौथे विकेट के लिए 57 और पांचवें विकेट के लिए रविचंद्रन अश्विन (नाबाद 22) के साथ 66 रन जोड़े।

भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। बल्लेबाजों के लिए मुफीद विकेट पर भारत का यह फैसला उस समय गलत साबित होता दिखा, जब 14 के कुल योग पर शेनॉन गेब्रियल ने मुरली विजय (7) को आउट कर भारत को पहला झटका दिया। विजय ने 26 गेंदों का सामना किया और गेब्रियल की एक पटकी गई गेंद पर क्रेग ब्राथवेट को कैच दे बैठे।

इसके बाद हालांकि धवन और चेतेश्वर पुजारा (16) ने समय के साथ खेलते हुए पहले सत्र की बाधा पार की। दोनों संयमित खेले लेकिन दूसरे सत्र की शुरुआत के साथ ही अपने संयम के लिए मशहूर पुजारा को आउट कर देवेंद्र बीशू ने भारत को दूसरा झटका दिया। यह विकेट 74 के कुल योग पर गिरा। पुजारा ने 67 गेंदों का सामना किया।

पुजारा की विदाई के बाद कप्तान विकेट पर आए और धवन के साथ शतकीय साझेदारी की। दोनों का मेल काफी अच्छा संयोग दिखा रहा था लेकिन 179 के कुल योग पर धवन को आउट कर बीशू ने अपनी टीम का संयोग अच्छा कर दिया। धवन 147 गेदों का सामना कर नौ चौके और एक छक्का लगाया। उनके आउट होने के साथ ही चायकाल की घोषणा हुई।

तीसरे सत्र की शुरुआत में कप्तान का साथ देने उनके नायब रहाणे आए। रहाणे ने आते ही खुलकर हाथ दिखाए और कई खूबसूरत स्टोक्स के साथ पारी का आगाज किया । इसी बीच भारत ने 200 रन पूरे किए। रहाणे और कोहली की जोड़ी बेहतरीन खेल रही थी लेकिन 236 के कुल योग पर बीशू ने रहाणे को आउट कर एक बार फिर जोड़ी तोड़ने का काम किया। रहाणे ने 36 गेंदों पर चार चौके लगाए।

रहाणे के आउट होने के बाद कप्तान का साथ देने आए दुनिया के बेहतरीन हरफनमौल खिलाड़ियों में से एक अश्विन। कप्तान ने उनके साथ भारतीय पारी को आगे बढ़ाया और दिन का खेल खत्म होने तक दोनों नाबाद रहे। अश्विन ने अपनी 69 गेंदों की पारी में दो चौके लगाए। इस दौरान हालांकि कप्तान ने अपनी पारी में 44 रन जोड़े। वेस्टइंडीज की ओर से देवेंद्र बिशू ने तीन और शेनन गेब्रिएल ने एक विकेट चटकाए।

दर्शकों की कम संख्या को देखते हुए इस सीरीज की खराब शुरुआत मानी जा सकती है। सर विवियन रिचर्डस स्टेडियम पहले दिन लगभग खाली रहा। दूसरे दिन जब कैरेबियाई टीम बल्लेबाजी के लिए उतरेगी (अगर भारत आउट हुआ तो) तब जाकर दर्शक मैदान का रुख कर सकते हैं। अन्यथा इस सीरीज के औचित्य और टेस्ट क्रिकेट पर खतरे की चर्चा एक बार फिर आम हो जाएगी।

(आईएएनएस)