पंजाब में कर्ज से परेशान एक और किसान ने की आत्महत्या

फिरोजपुर। पंजाब में किसानों की आत्महत्या का सिलसिला अभी तक थमा नहीं है। पंजाब में एक और किसान की आत्महत्या का मामला सामने आया है जो कर्ज के तले दबा हुआ था। फिरोजपुर के कलगढ़ी क्षेत्र के झोंक हरिहर गांव के किसान कुलदीप सिंह ने जहर पीकर आत्महत्या कर ली। उस पर 20 लाख रुपये का कर्ज था और इस कारण वह भारी तनाव में था। 45 साल के कुलदीप के पिता गुरचरन सिंह का कहना है कि कर्ज के कारण बेहद परेशान रहता था। कुलदीप पर बैंक और सोसाइटी का आठ लाख रुपये, आढ़ती का सात लाख रुपये और कई लोगों के पांच लाख रुपये का कर्ज था। वह कर्ज चुकाने के लिए पड़ रहे दबाव से काफी तनाव में था।


बता दें कि कुलदीप के पास सात एकड़ जमीन थी। परंपरागत फसल में अपेक्षित लाभ न मिलने पर कुलदीप ने आर्गेनिक खेती शुरू की और दूसरे कृषि सहायक धंधे में भी लगा रहा जिससे उसे कोई फायदा नहीं हुआ। इससे वह काफी परेशान रहने लगा। गुरचरन सिंह ने बताया कि शनिवार की सुबह वह खेतों में पानी देने के लिए मोटर चलाने गया था। जब काफी देर तक वो वापस नहीं आया तो घर वाले उसे खेत पर देखने पहुंचे। वहां जाकर उन्होंने देखा कि कुलदीप मोटर के पास बेहोश पड़ा था। परिवार वाले उसे फौरन अस्पताल ले जाने लगे। लेकिन अस्पताल जाने से पहले ही उसने दम तोड़ दिया। उसके बाद कुलदीप की मौत से पूरे गांव में मातम सा छा गया। कुलदीप के परिवार में वृद्ध माता-पिता, पत्नी और दो बेटे हैं।

वहीं जिला उपायुक्‍त रामवीर से किसान कुलदीप सिंह द्वारा आत्महत्या किए जाने की घटना को दुखद बताया। उन्होंने कहा कि अभी वह जिले से बाहर है, फिरोजपुर पहुंचने पर वह घटना की विस्तृत जानकारी लेंगे और अगली कार्रवाई करेंगे। कर्ज से परेशान किसान प्रदेश और देश के विभिन्न हिस्सों में आए दिन आत्महत्या कर रहे हैं। प्रदेश में कांग्रेस सरकार के गठन के बाद ढ़ाई महीने में फिरोजपुर जिले में कर्ज से दबे किसान द्वारा आत्महत्या करने का यह पहला मामला है। फिरोजपुर देहाती हलके की एमएलए सत्कार कौर गहरी ने इस घटना पर दुख जताया है और पीडि़त परिवार को हरसंभव मदद की बात कही है।