आनंदपाल का शव 6 दिनों से अस्पताल में रखा गया

राजस्थान। गैंगस्टर आनंदपाल के परिजनों ने बृहस्पतिवार को भी आंनदपाल का शव लेने से इंकार कर दिया है। प्रदर्शनकारियों ने एक गाड़ी में भी आग लगा कर गुस्सा प्रकट किया है और वहीं सरकार की ओर से अंतिम संस्कार को लेकर भेजे गए नोटिस की 24 घंटों की मयाद भी खत्म हो चुकी है। गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया ने बोला की आनंदपाल के अंतिम संस्कार को लेकर बातचीत चल रही है। प्रदर्शनकारियों ने सीकर में आनंदपाल एनकाउंटर की सीबीआई जांच को लेकर प्रदर्शनकारियों ने तहसीलदार की गाड़ी को आग के हवाले कर दिया,प्रदर्शनकारियों ने रास्ते को जाम किया और तहसीलदार की गाड़ी में तोड़फोड़ की और फिर गाड़ी में आग लगा दी,जब इस सूचना की खबर पुलिस को मिली तो सीकर पुलिस अपना जत्था लेकर पहुंचे और फिर हालात को काबू किया।

आनंदपाल की मां निर्मल कंवर ने वकील के जरिए जांच अधिकारी को जवाब दिया, उन्होंने शव लेने भेजे गए नोटिस को आधा-अधूरा बताते हुए पुलिस पर हत्या का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा की पुलिस के दबाव में सरकारी डॉक्टरों ने गलत तरीके पोस्टमार्टम किया है। उन्होंने बोला की पीएम फिर से हो और उसकी वीडियोग्राफी भी कराई जाए,आनंदपाल की मां ने बेटे रूपेंद्र और मनजीत को छोड़ाने की मांग की है। उन्होंने कहा की भाई ही आनंद का अंतिम संस्कार करेंगे। उनके रिश्तेदारों को परेशान करना बंद करे पुलिस। पुलिस ने शव लेने के लिए परिजनों को 24 घंटे का समय दिया था, इसके लिए जारी नोटिस को लेने से परिजनों ने इनकार कर दिया था। इसके बाद नोटिस को नागौर जिले के सांवराद गांव में आनंदपाल के घर के बाहर चस्पा कर दिया गया था।

नोटिस के 24 घंटे की मियाद गुरुवार सुबह 11 बजे खत्म हो गई है,आनंदपाल की छोटी बेटी योगिता ने कहा की उसके पिता के साथ अन्याय हुआ है और उसने दिल्ली एम्स से शव का दोबारा पोस्टमार्टम कराने, सीबीआई जांच सहित कई मांगें की हैं। आनंदपाल के भाइयों को कोर्ट में नहीं किया पेश नागौर के परबतसर में गैगस्टर आनंदपाल सिंह के भाई विक्की उर्फ रूपेंद्रपाल व गट्टू उर्फ देवेन्द्र को गुरुवार को कोर्ट में पेश नहीं किया है। पुलिस ने कोर्ट को बताया की माहौल ठीक नहीं है,और इनकी पेशी के लिए पर्याप्त जाब्ता नहीं है। इसलिए इनके वारंट ही कोर्ट में पेश किए गए है। एसओजी के एएसपी पवन कुमार मीणा सहित परबतसर थानाधिकारी सत्येन्द्र सिंह ने कोर्ट से दोनों की रिमांड की मांग की। एसीजेएम ज्योति सोनी ने दोनो को एक जुलाई को को पेश करने के आदेश दिए। दोबारा पोस्टमार्टम को लेकर सुनवाई शुक्रवार को रतनगढ़ एडीजे कोर्ट में आनंदपाल के दोबारा पोस्टमार्टम कराने को लेकर सुनवाई शुक्रवार को होगी। परिवार की ओर से दायर याचिका में कहा गया है दोबारा पोस्टमार्टम करने वाले दल में एक डाक्टर एम्स का भी होना चाहिए।