शाह ने किया इशारा, सिद्धार्थ नाथ के सिर सज सकता है सीएम का ताज

इलाहाबाद। उत्तर प्रदेश के सियासी रण में जीत का ताज भाजपा के सिर पर सजता है तो यूपी की कमान सिद्धार्थ नाथ को सौंपी जा सकती है। इस बात का इशारा सिद्धार्थ शाह ने इलाहाबाद में रोड शो के दौरान दिया।

रोड शो के बाद शहर में जनसभा को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा, ‘‘हमने सिद्धार्थ नाथ सिंह को राष्ट्रीय नेतृत्व से शहर पश्चिम में बड़े परिवर्तन के लिए भेजा है, आप लोग सिद्धार्थ नाथ को सिर्फ एक विधायक बना कर नहीं भेजेंगे बल्कि एक बड़े नेता को प्रदेश में एक बड़े एवं महत्वपूर्ण दायित्व का निर्वाह करने के लिए भेजेंगे।’’ श्री शाह ने कहा कि सिद्धार्थ नाथ अपने नाना स्व. लाल बहादुर शास्त्री की कर्म भूमि में शहर पश्चिम की नयी पहचान बनायेंगे।

दरअसल सिद्धार्थ नाथ पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के पौत्र हैं। वह पार्टी के राष्ट्रीय सचिव और प्रवक्ता हैं। भाजपा ने उन्हें इलाहाबाद शहर पश्चिम से पार्टी प्रत्याशी बनाया है। चुनाव के दौरान शहर पश्चिम क्षेत्र में पिछले दिनों एक पोस्स्टर भी कई जगह चिपकाया गया था, जिसमें यह दर्शाया गया था कि सिद्धार्थ नाथ सिंह प्रदेश के अगले मुख्यमंत्री होंगे।

यद्यपि यह पोस्टर भाजपा की तरफ से नहीं जारी किया गया था। लेकिन, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने आज की जनसभा में जो कुछ कहा उसके बाद संगम नगरी में इस बात की चर्चा को बल मिला है कि शहर पश्चिम में चुनाव लड़ रहे भाजपा प्रत्याशी सिद्धार्थ नाथ भाजपा की सरकार बनने पर प्रदेश के मुख्यमंत्री हो सकते हैं।

जनसभा को संबोधित करते हुए अमित शाह ने प्रदेश की सत्तारुढ़ समाजवादी पार्टी (सपा) और बसपा पर जमकर प्रहार किया। कहा कि ये दोनों दल युवाओं को रोजगार, महिलाओं को सम्मान और किसानों को उनका हक नहीं दे सकते। उन्होंने कहा कि इन दोनों दलों में से एक ने भ्रष्टाचार का इतिहास रचा तो दूसरे ने अपराध का कीर्तिमान स्थापित किया।

शाह ने कहा यह चुनाव गुंडागर्दी, भ्रष्टाचार, जात पात, परिवारवाद को समाप्त करने का चुनाव है। उत्तर प्रदेश को अतीक अहमद, अफजाल अंसारी, मुख्तार अंसारी जैसे माफियों से मुक्त करायेंगे। उन्होंने जनता से हाथ उठा कर शहर पश्चिम को अतीक अहमद से मुक्त करवाने का संकल्प कराया।